पार्षद गिर्राज शर्मा ने दिया स्पष्टीकरण, टीकम शर्मा ने यह कहा

जस्ट टुडे
जयपुर। जस्ट टुडे ने
'सांगानेर भाजपा मण्डल में अब उठा नया बवण्डर' शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इसमें बताया गया था कि वार्ड 89 पार्षद गिर्राज शर्मा और मंडल मंत्री अशोक सलोदिया ने सोशल मीडिया पर कार्यक्रम की एक पोस्ट शेयर की थी। इस पोस्ट में दो व्यक्तियों के नाम के साथ वार्ड 88 और वार्ड 89 वार्ड संयोजक पद लिखा हुआ था। जस्ट टुडे ने पोस्ट का हवाला देते हुए खबर प्रकाशित की थी। इसमें यह भी बताया गया था कि भाजपा जिला संगठन की ओर से अभी तक वार्ड संयोजक की घोषणा नहीं की गई है। समाचार प्रकाशित होने के बाद वार्ड 89 पार्षद गिर्राज शर्मा ने जस्ट टुडे को फोन किया और सफाई देते हुए कहा कि सेवा सप्ताह कार्यक्रम के लिए ही वार्ड संयोजक बनाए गए थे। करीब हर वार्ड में ऐसे संयोजक बनाकर जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उन्होंने कहा कि टीकम शर्मा को भी संयोजक की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इस पर जस्ट टुडे ने टीकम शर्मा से भी सच्चाई जानी। पेश है पूरी रिपोर्ट। 

सिर्फ कार्यक्रम के लिए बनाए गए हैं वार्ड संयोजक

वार्ड 89 पार्षद गिर्राज शर्मा ने जस्ट टुडे को फोन कर इस मामले में अपना स्पष्टीकरण दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने सोशल मीडिया पर जो पोस्ट शेयर की हैं, उसमें जिस व्यक्ति के लिए वार्ड संयोजक का पद लिखा है, उन्हें कार्यक्रम का वार्ड संयोजक बनाया गया था। अभी भाजपा मंडल की ओर से सभी वार्डों में कार्यक्रम चल रहे हैं। उन्हीं के तहत कार्यक्रमों के वार्ड संयोजक बनाए गए हैं। मैंने किसी को लिखकर वार्ड संयोजक की जिम्मेदारी नहीं दी है। वार्ड 89 निवासी और एडवोकेट टीकम शर्मा को भी पिछले दिनों कार्यक्रम की जिम्मेदारी के लिए संयोजक की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। ऐसे ही कार्यक्रमों के लिए अलग-अलग वार्डों में संयोजक बनाए गए हैं। 

मुझे मंडल संयोजक बनाया गया था...वार्ड संयोजक कहीं नहीं बनाए गए

इस बारे में जस्ट टुडे ने एडवोकेट टीकम शर्मा को फोन किया और उनसे संयोजक बनाए जाने के बारे में बात की। इस पर उन्होंने जस्ट टुडे से कहा कि भाजपा अनुशासन प्रिय पार्टी है। मैं एक साधारण कार्यकर्ता हूं। कोई भी कथन देने से बचना चाहता था। लेकिन, वार्ड 89 पार्षद ने मेरा नाम लिया है, ऐसे में मेरा स्पष्टीकरण देना जरूरी हो जाता है। यह सही है कि मुझे सेवा सप्ताह कार्यक्रम के तहत 28, 29 और 30 मई के लिए मंडल संयोजक बनाया गया था। इसके लिए मेरे पास मंडल अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा की ओर से यह मैसेज किया गया था कि मैं सेवा सप्ताह का मंडल संयोजक हूं और प्रत्येक वार्ड में पार्षद अथवा पार्षद प्रत्याशी इस कार्यक्रम के प्रभारी रहेंगे। इन कार्यक्रमों के लिए वार्ड संयोजकों की नियुक्ति नहीं होगी। पार्षद गिर्राज शर्मा ने वार्ड 88 और 89 के कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया पर वार्ड संयोजक शब्द से जो सम्बोधित किया है, वह उनकी निजी राय है। इस पर मैं कुछ कहना नहीं चाहता हूं। हालांकि, यह भी सही है कि शहर अध्यक्ष की ओर से अभी तक वार्ड संयोजकों की घोषणा नहीं की गई है। पार्षद का पद एक जिम्मेदारी वाला होता है।

इस संदर्भ में पूरा जानने और खबर पढऩे के लिए ब्लू लिंक पर क्लिक करें। 

सांगानेर भाजपा मण्डल में अब उठा नया बवण्डर
https://www.justtoday.page/2021/06/blog-post_41.html

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार