सांगानेर से पांच दिन से युवक लापता, भारद्वाज हुए सक्रिय तो पुलिस ने गठित की नई टीम

 -कांग्रेस नेता पुष्पेंद्र भारद्वाज के नेतृत्व में सैकड़ों लोगों ने किया मानसरोवर एसीपी कार्यालय का घेराव




जस्ट टुडे
जयपुर। मानसरोवर के पास स्थित मान्यावास गांव से मुकेश सैनी पिछले पांच दिनों से लापता है। पुलिस अभी तक उसका सुराग नहीं लगा पाई है। इसे लेकर सोमवार को सांगानेर में कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने मुकेश सैनी के परिजनों और सैकड़ों लोगों के साथ मानसरोवर एसीपी कार्यालय का घेराव किया। इस दौरान भारद्वाज ने चेताया कि लापता के साथ यदि कोई अनहोनी हो गई तो फिर उसका जिम्मेदार पुलिस प्रशासन होगा? इस दौरान गुस्साए लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। भारद्वाज ने पुलिस को इस मामले को गंभीरता से लेने को भी कहा।



पुष्पेंद्र भारद्वाज ने बताया कि मुकेश सैनी 3 नवम्बर को मान्यावास स्थित गोपाल नगर से अपने घर से रोजाना की तरह काम के लिए निकला था। 10 बजे उसने आखिरी बार अपने घर बात की, लेकिन उसके बाद से उसका कोई सुराग नहीं है। मुकेश सैनी सांगानेर का बेटा है,  पुलिस ने खोजबीन में लापरवाही बरती है और अब तक उसे खोज नहीं पाई है। पुलिस प्रशासन को अपनी कार्यशैली दुरुस्त करने की आवश्यकता है।



इस सम्बंध में पुष्पेंद्र भारद्वाज ने मानसरोवर एसीपी हरिशंकर यादव से भी बात की। इसके बाद एसीपी ने कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि अभी 4 लोगों की नई टीम गठित की गई है, जो जल्दी ही मुकेश सैनी का सुराग लगाने के लिए काम करेगी और जो टीम पहले से काम कर रही है, वो भी अपने काम में गति लाते हुए जल्दी ही मुकेश सैनी को वापस लाने के लिए कटिबद्ध है। इस दौरान पार्षद प्रत्याशी रतन सैनी, राम चंद सैनी, दिनेश सैनी, विकास सैनी सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर में नया अध्यक्ष चुनने आज एक जाजम पर बैठेंगे व्यापारी