कांग्रेस ने सांगानेर में पार्षदों की बाड़ेबंदी की

 - दो उम्मीदवारों के नामांकन-पत्र खारिज, अब रश्मि सैनी और हेमा सिंघानिया में सीधा मुकाबला 




जस्ट टुडे
जयपुर। जयपुर नगर निगम ग्रेटर में महापौर पद का उप चुनाव अब दिलचस्प हो गया है। शुक्रवार को जिन चार उम्मीदवारों ने नामांकन भरे थे, उनमें से वार्ड 130 से कांग्रेस पार्षद रजुला सिंह और वार्ड 32 से पार्षद नसरीन बानो का नामांकन पत्र खारिज हो गया। रजुला सिंह को एक शपथ पत्र देना था, जो समय पर दे नहीं सकी थीं, जबकि नसरीन बानो अपने आवेदन पत्र के साथ जमानत राशि (15 हजार रुपए) की रसीद नहीं जमा करवा सकी थी। ऐसे में अब भाजपा की रश्मि सैनी और कांग्रेस की हेमा सिंघानिया में सीधा मुकाबला होगा। इस स्थिति को देखते हुए शनिवार को कांग्रेस ने भी अपने सभी पार्षदों की बाड़ेबंदी कर दी। कांग्रेस ने सभी पार्षदों को सांगानेर में रामपुरा रोड स्थित मैजेस्टिक रिसोर्ट में भेज दिया है। वार्ड 94 के पार्षद प्रतिनिधि अमित सैनी ने बताया कि बाड़ेबंदी में करीब 50 से अधिक पार्षद शनिवार को पहुंच गए। शेष रविवार को पहुंच जाएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा के कई पार्षद उनकी पार्टी के सम्पर्क में हैं। ऐसे में इस बार ग्रेटर निगम मेंं कांग्रेस का ही महापौर बनेगा।

खाचरियावास के निवास पर एकत्रित हुए थे पार्षद




बाड़ेबंदी करने से पहले कांग्रेस के सभी पार्षदों को शनिवार दोपहर सिविल लाइंस स्थित प्रतापसिंह खाचरियावास के निवास पर बुलाया गया। इस दौरान सभी विधायक और विधायक प्रत्याशियों को भी बुलाया गया। इन सभी को जिम्मेदारी दी गई कि वे अपने-अपने क्षेत्र के सभी कांग्रेस और कांग्रेस समर्थित निर्दलीयों को लेकर पहुंचे। इसके बाद इन सभी पार्षदों को सांगानेर में रामपुरा रोड स्थित मैजेस्टिक रिसोर्ट ले जाया गया।

कांग्रेस को जीत के लिए 21 वोट की जरूरत

कांग्रेस को इस चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए 21 वोटों की जरूरत है। वर्तमान में 146 सदस्यों में से कांग्रेस के खुद के 45 पार्षद हैं, जबकि 4 निर्दलियों का उसे समर्थन है। इस तरह कांग्रेस अभी अपने पास 53 वोट होने का दावा कर रही है। मेयर की जीत के लिए 74 वोट की जरूरत है। ऐसे में कांग्रेस की कोशिश रहेगी कि 21 और पार्षदों को अपने खेमे में जोड़-तोड़ से  शामिल किया जाए, ताकि जीत दर्ज की जा सके।

वोटिंग के दिन ही आएंगे नतीजे

महापौर उपचुनाव में अब 7 नवबर को दोपहर तीन बजे तक नाम वापसी हो सकेगी। इसके बाद चुनाव चिह्न का आवंटन किया जाएगा। 10 नवंबर को सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक मतदान होगा। इसके बाद उसी दिन परिणाम भी जारी कर दिया जाएगा


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर में नया अध्यक्ष चुनने आज एक जाजम पर बैठेंगे व्यापारी