दूध महोत्सव से नववर्ष का स्वागत करेंगे भारद्वाज

 - सांगानेर विधानसभा के सभी वार्डों में लोगों को पिलाया जाएगा गर्मा-गर्म दूध


जस्ट टुडे                                                                          जयपुर।
सांगानेर विधानसभा में कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज जनहित के कार्यों के साथ ही सामाजिक सेवा में भी सक्रिय रहते हैं। भारद्वाज दूध महोत्सव के जनक और मिल्क क्लब ऑफ राजस्थान के फाउण्डर भी हैं। ऐसे में प्रत्येक वर्ष 31 दिसम्बर की पूर्व संध्या पर दूध पिलाकर नए साल का स्वागत करते हैं। इनका ध्येय वाक्य भी आओ नववर्ष मनाएं, दूध पिएं और पिलाएं। इसी तर्ज पर इस बार भी 31 दिसम्बर की पूर्व संध्या पर कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज के नेतृत्व में विधानसभा के सभी 39 वार्डों में लोगों को दूध पिलाया जाएगा। इस दौरान लोगों से अपील की जाएगी कि नए साल का स्वागत दारू से नहीं दूध से करिए। पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने बताया कि मुख्य कार्यक्रम विधानसभा के वार्ड 74 में यूथ कांग्रेस जिला अध्यक्ष सुनील सिंघानिया के वार्ड में पत्रकार कॉलोनी स्थित 200 फीट रोड पर किया जाएगा। वहां पर सुनील सिंघानिया के मार्गदर्शन में दूध महोत्सव मनाया जाएगा। 

विवि. अध्यक्ष के तौर पर वर्ष 2002 में शुरू किया दूध महोत्सव

'दूध महोत्सव’ जैसी स्वच्छ परम्परा की शुरुआत 31 दिसंबर 2002 को राजस्थान विश्वविद्यालय के द्वार से तत्कालीन एनएसयूआई अध्यक्ष पुष्पेन्द्र भारद्वाज की ओर से की गई थी। इस नई सामाजिक पहल और क्रांति का प्रदेश ही नहीं बल्कि देशभर में स्वागत किया गया। उस दूध महोत्सव में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी शिरकत की थी और कार्यक्रम की भूरि-भूरि प्रशंसा भी की थी। उस समय तत्कालीन जयपुर कलक्टर सुधांशु पंत, एसपी संजय अग्रवाल सहित कई मंत्री और विधायकों ने विश्वविद्यालय के द्वार पर गरमा-गर्म दूध पीकर कार्यक्रम जमकर सराहना की थी।

उनके कार्य का दूसरे लेना चाह रहे श्रेय

वर्तमान में इस ‘दूध महोत्सव’ को नववर्ष की पूर्व संध्या पर देशभर में मनाया जाने लगा है। सम्पूर्ण राजस्थान में 2000 से भी ज्यादा जगह लोग इस दिन दूध पिलाते हैं, जहां 10 लाख से ज्यादा लोग दूध पीकर नए वर्ष को अलग अन्दाज में सेलब्रेट करते हैं। अकेले जयपुर शहर में 500 से ज्यादा जगह दूध पिलाकर नव वर्ष का स्वागत किया जाता है। पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने यह भी आरोप लगाया कि कुछ लोग उनकी पहल को अपनी ओर से शुरू की गई बताकर जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार