नाला होगा पक्का, गुलाब जैसी खिलेगी गुलाब विहार

- चेयरमैन और वार्ड 104 पार्षद अरुण शर्मा ने किया नाले के कार्य का शुभारंभ, लोगों को गंदगी और बदबू से मिलेगी जल्द निजात


जस्ट टुडे
जयपुर।
ग्रेटर नगर-निगम चेयरमैन और वार्ड 104 पार्षद अरुण शर्मा की ओर से लगातार विकास कार्य किए जा रहे हैं। इन्होंने वार्ड में कई स्थानों पर सड़कों के पेचवर्क सम्बंधी तो कई जगह रोडलाइट और अन्य विकास कार्य कराए हैं। रविवार को चेयरमैन अरुण शर्मा ने गुलाब विहार स्थित गंदे नाले को भी पक्का कराने के कार्य का शुभारम्भ किया। पंडित ने वैदिक मंत्रोच्चार के जरिए विधिवत् पूजा-अर्चना करवाई। इस दौरान जेपी अग्रवाल, राजेन्द्र कूलवाल, लक्ष्मीनारायण, शंकर पांचाल, अनिल गर्ग, जितेन्द्र, केसर चौधरी और मनोज आमेटा सहित कई लोग उपस्थित थे।

4.5 लाख रुपए होंगे खर्च, लगेंगे फेरोकवर भी


चेयरमैन अरुण शर्मा ने बताया कि जनहित में नाले को पक्का कराने का कार्य करवाया जा रहा है। इस पर करीब 4.5 लाख रुपए खर्च होंगे। यह पूरा कार्य पार्षद निधि से कराया जाएगा। नाला पक्का होने के बाद उस पर फेरोकवर भी लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि चुनाव के दौरान स्थानीय लोगों से मैंने यह कार्य कराने का वादा किया था, जिसे अब पूरा किया जा रहा है। अरुण शर्मा ने बताया कि वार्ड में निरन्तर विकास के कार्य जारी है। कोरोना काल में भी सम्पूर्ण वार्ड में कई बार सैनिटाइजेशन करवाया जा चुका है। जरूरतमंदों को भी खाना, राशन सामग्री, मेडिकल किट और अन्य आवश्यक सामान का वितरण किया गया। समय-समय पर अन्य कार्य भी वार्ड में कराए जाएंगे।

डेगूं, चिकनगुनिया को न्यौता दे रहे मच्छर

वर्तमान में यह नाला कचरे से भरा पड़ा है। पानी निकासी नहीं होने से यह भयंकर बदबू मारता है। इससे आस-पास रहने वाले लोग नारकीय जीवन जीने को विवश थे। राहगीर भी उस रास्ते के बजाय दूसरे रास्तों से निकलना पसंद करते हैं। गंदे पानी में मच्छर-मक्खी पैदा होकर बीमारियों को न्यौता दे रहे हैं। मच्छरों से डेगूं और चिकनगुनिया जैसी जानलेवा बीमारियों का भी खतरा बना रहता है। नाला पक्का होने से स्थानीय लोगों के साथ ही राहगीरों को भी सुकून मिलेगा।

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार