एससी समुदाय का होने से नहीं बनाया वार्ड संयोजक: रतिराम परेवा

 - विधायक और मंडल अध्यक्ष के ठोस आश्वासन देने के बाद भी नहीं बनाया गया वार्ड संयोजक

जस्ट टुडे
जयपुर।
भाजपा संगठन विधानसभा चुनावों से पहले प्रदेशभर में पन्ना प्रमुख बनाने का अभियान चला रहा है, वहीं सांगानेर भाजपा मंडल में कार्यकर्ता सम्मान नहीं मिलने और उपेक्षा से लगातार नाराज होकर पार्टी से दूरी बना रहे हैं। ऐसे में सशक्त भाजपा मंडल का यह अभियान सिर्फ कागजी खानापूर्ति ही दिख रहा है। सांगानेर भाजपा मंडल में अब वार्ड 89 के वरिष्ठ कार्यकर्ता रतिराम परेवा ने उपेक्षा और सम्मान नहीं मिलने का आरोप लगाया है। जस्ट टुडे से बातचीत में परेवा ने अपना जो दर्द बयां किया, वह ज्यों का त्यों?

जिसने पार्टी की सेवा की...उसे ही किया दरकिनार

परेवा ने जस्ट टुडे से कहा कि निकाय चुनावों में उन्होंने वार्ड 89 सहित कई वार्डों में भाजपा को जिताने के लिए दिन-रात नि:स्वार्थ मेहनत की। उनकी मेहनत से वार्ड 89 में भाजपा पार्षद जीते भी। इसके बाद विधायक अशोक लाहोटी, जयपुर शहर उपाध्यक्ष नवरतन नराणियां और भाजपा मंडल अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा ने उन्हें वार्ड 89 में संयोजक बनाने का ठोस आश्वासन दिया। इस दौरान वहां कई भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता भी मौजूद थे। इसके बावजूद मुझे वार्ड संयोजक नहीं बनाया गया। इस बारे में मैंने पूछा तो मुझे कहीं से भी कोई जवाब नहीं दिया गया बल्कि मुझे उपेक्षित कर दिया गया। ना तो मुझे पार्टी के कार्यक्रमों की सूचना दी जाती है और ना ही कोई जिम्मेदारी। जिस व्यक्ति को वार्ड 89 का संयोजक बनाया गया है, उसे वार्ड में मैंने पहले कभी नहीं देखा। ना ही वह व्यक्ति वार्ड संयोजक बनने का इच्छुक है और ना ही कार्य करने का। इसके बाद भी उसे वार्ड संयोजक बना दिया गया और जो व्यक्ति निष्ठापूर्वक पार्टी की सेवा करना चाहता है, उसे दरकिनार कर दिया गया। 

मेरा आगे बढऩा शायद था नापसंद

परेवा ने बताया कि यह तो नहीं पता कि उन्हें ठोस आश्वासन के बाद भी वार्ड संयोजक क्यों नहीं बनाया गया? लेकिन, संभवत: मैं एससी समुदाय से हूं। ऐसे में मुझे लगता है कि सांगानेर भाजपा के कर्ताधर्ता मेरे जैसे समुदाय के लोगों को आगे नहीं बढऩा देखना चाहते हैं। इसलिए मुझे दरकिनार किया गया। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार