कांग्रेस के हुए भाजपा के मंगल चौहान

-कांग्रेस प्रत्याशी पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने दुपट्टा पहनाकर भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता मंगल चौहान को दिलाई कांग्रेस की आधिकारिक सदस्यता

- सांगानेर भाजपा मंडल में लगातार अपनी उपेक्षा से व्यथित थे मंगल


जस्ट टुडे
जयपुर।
आखिर काफी ऊहापोह के बाद सांगानेर भाजपा मंडल के वरिष्ठ कार्यकर्ता मंगल चौहान ने शनिवार को कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। वार्ड 94 के वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता मंगल चौहान काफी समय से अपनी उपेक्षा से नाराज चल रहे थे। हालांकि, समय-समय पर उन्हें मना लिया गया। लेकिन, अभी कुछ दिन पहले सांगानेर भाजपा मंडल अध्यक्ष की ओर से जारी वार्ड प्रभारियों की सूची में भी मंगल चौहान को दरकिनार किया गया। ऐसे में बार-बार उपेक्षा से नाराज मंगल ने पिछले कई दिनों से सोशल मीडिया पर बगावती तेवर अपना रखे थे। शनिवार को उन्होंने सोशल मीडिया पर भी कांग्रेस ज्वॉइन करने की पोस्ट वायरल की थी। ठीक इसके बाद पुष्पेन्द्र भारद्वाज जिंदाबाद के नारे वाली एक अन्य पोस्ट भी वायरल की गई। इसके बाद सांगानेर की राजनीति में यह तय माना जा रहा था कि भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता का अब पार्टी पदाधिकारियों की रीति-नीति से मोहभंग हो चुका है। मंगल चौहान ने शनिवार को सांगानेर विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी पुष्पेन्द्र भारद्वाज के हाथों कांग्रेस की आधिकारिक सदस्यता ग्रहण कर ली। 

इन्होंने बनाई मंगल की राह मंगल


वार्ड 94 के पार्षद पति अमित सैनी और वार्ड 90 के कांग्रेस प्रत्याशी घनश्याम कूलवाल के जरिए मंगल चौहान की कांग्रेस में एंट्री संभव हो पाई है। पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने मंगल चौहान को कांग्रेस का दुपट्टा पहनाकर सदस्यता ग्रहण करवाई और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। पुष्पेन्द्र भारद्वाज लगातार अपने विकास कार्यों की वजह से विधानसभा की जनता के दिलों में बस गए हैं। विधानसभा में भाजपा कार्यकर्ता भी दबे-चुपके जुबान पुष्पेन्द्र भारद्वाज के कार्यों को लेकर उनकी प्रशंसा करते नहीं थकते हैं। वहीं अपने पदाधिकारियों के लिए कहते हैं कि इन्होंने सांगानेर में भाजपा का बंटाधार कर दिया है। 

भाजपा लगातार हो रही कमजोर, भारद्वाज ने मजबूत की सियासी जमीन


सांगानेर भाजपा मंडल के ज्यादातर कार्यकर्ता मंडल अध्यक्ष की कार्यशैली से लगातार नाराज चल रहे हैं। कोरोना के समय से कई वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने समय-समय पर मंडल अध्यक्ष की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाया था। हालांकि, उनमें से कई कार्यकर्ताओं को मजबूरन मंडल अध्यक्ष को पद देकर साधना पड़ा था। वहीं कई कार्यकर्ताओं ने विभिन्न मंचों का दामन थाम लिया है। वर्तमान स्थितियों की बात करें तो सांगानेर विधानसभा में भाजपा की जमीनी पकड़ लगातार कम होती जा रही है। सबसे बड़ी चिंताजनक स्थिति सांगानेर भाजपा मंडल की है, जहां भाजपा निकाय चुनावों में 10 में से 8 वार्ड हार गई थी। सियासी जानकार इसे भाजपा की अब तक की करारी हार बताते हैं। ऐसे में लगातार कार्यकर्ताओं का नाराज होना और कांग्रेस पार्टी ज्वॉइन करना भी भाजपा के लिए सुखद संकेत नहीं है। वहीं इससे साफ होता है कि कांग्रेस प्रत्याशी पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने कड़ी मेहनत के जरिए  अपनी और पार्टी की सियासी जमीन मजबूत कर ली है। 

मंगल और परेवा लगा चुके हैं एससी समाज की उपेक्षा का आरोप


मंगल चौहान ने भाजपा पदाधिकारियों पर एससी समाज को लगातार दरकिनार करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने सोशल मीडिया पर इशारों-इशारों में भारत वाहिनी छोड़कर भाजपा में सम्मिलित हुए पदाधिकारियों को भी बांसुरीवादक बताकर आड़े हाथों लिया था। मंगल इससे पहले भी कई बार भाजपा पदाधिकारियों पर एससी समाज की उपेक्षा करने का आरोप लगा चुके हैं। मंगल चौहान से पहले रतिराम परेवा ने भी भाजपा पदाधिकारियों पर एससी समाज के लोगों को आगे नहीं बढ़ाने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा पदाधिकारियों ने उन्हें वार्ड 89 का संयोजक बनाने का वादा किया था। लेकिन, एससी समाज का होने की वजह से ऐनवक्त पर उनका नाम काट दिया गया। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार