निगम के ट्रेड लाइसेंस का विरोध, 11 को जयपुर बंद

 - व्यापारिक संगठन हुए एकजुट, उद्योग संघर्ष समिति का किया गठन, 6 सितम्बर को तय होगी रणनीति


जस्ट टुडे
जयपुर। जयपुर नगर निगम की ओर से लगाए गए ट्रेड लाइसेंस फीस के विरोध में जयपुर के तमाम व्यापारिक संगठन एकजुट हो गए हैं। ट्रेड लाइसेंस के विरोध में व्यापारिक संगठनों ने शनिवार को राजस्थान चैंबर ऑफ कॉमर्स में मीटिंग आयोजित की। इसमें 11 सितम्बर को जयपुर बंद करने का आह्वान किया गया। बंद को सफल बनाने के लिए व्यापार मंडल, महासंघ और विभिन्न ट्रेड से जुड़े व्यापारियों ने 'जयपुर व्यापार उद्योग संघर्ष समिति' का गठन किया है। जयपुर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष सुभाष गोयल और महामंत्री सुरेद्र कुमार बज ने बताया कि संघर्ष समिति में सभी व्यापार मण्डलों और ट्रेड एसोसिएशनों से एक-एक प्रतिनिधि को शामिल किया जाएगा। संघर्ष समिति की पहली बैठक 6 सितम्बर को सुबह 11 बजे राजस्थान चैंबर ऑफ कॉमर्स भवन में होगी, जिसमें आगे की रणनीति तय की जाएगी।

काला कानून बता वापस लेने की मांग




शनिवार को हुई मीटिंग में राजस्थान चैम्बर ऑफ  कॉमर्स मानद महासचिव डॉ. के.एल. जैन,  राजस्थान खाद्य पदार्थ व्यापार संघ चेयरमैन बाबूलाल गुप्ता, फोर्टी कार्यकारी अध्यक्ष अरुण अग्रवाल, जयपुर व्यापार महासंघ कार्यकारी अध्यक्ष हरीश केडिया, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेश सैनी, चंद्र कुमार रूपानी, राजापार्क व्यापार मंडल अध्यक्ष रवि नैयर, ऑल राजस्थान ट्रेड एण्ड इण्डस्ट्रीज अध्यक्ष प्रेम बियानी, राजस्थान टैंट डीलर एसोसिएशन चेयरमैन रवि जिंदल, जयपुर व्यापार मंडल अध्यक्ष ललित सांचौरा, संरक्षक पवन गोयल, प्रवक्ता नरेन्द्र मारवाल, उपाध्यक्ष भंवर सिंह शेखावत, जयपुर खुदरा विक्रेता संघ अध्यक्ष विनोद अग्रवाल, राजस्थान दुकानदार महासंघ अध्यक्ष किशोर टांक, जयपुर लघु उद्योग एवं व्यापार महासंघ अध्यक्ष प्रकाश चंद्र गुप्ता, महामंत्री मो. सईद खान, सांगानेर रोड व्यापार मंडल अध्यक्ष पवन शर्मा, एराटिया अध्यक्ष बने चंद जैन, जयपुर कैट अध्यक्ष सचिन गुप्ता ने नगर निगम की ओर से राजपत्रित ट्रेड लाइसेंस शुल्क के प्रति आक्रोश व्यक्त करते हुए सरकार से इसे तुरन्त वापस लेने की मांग करते हुए इसे काला कानून बताया।

इंस्पेक्टर राज को मिलेगा बढ़ावा


वहीं जयपुर किराना एण्ड ड्राईफ्रूट्स कमेटी अध्यक्ष प्रहलाद अग्रवाल, जयपुर हार्डवेयर मर्चेंट्स एसोसिएशन महामंत्री प्रभात गुप्ता, इंदिरा बाजार व्यापार मंडल अध्यक्ष यशपाल अरोड़ा, मनिहारी बाजार व्यापार मंडल अध्यक्ष मिंतर सिंह राजावत, किशनपोल बाजार व्यापार मंडल अध्यक्ष मनीष खूंटेटा, महामंत्री आनन्द महरवाल, गणगौरी बाजार व्यापार मंडल अध्यक्ष सतीश माहेश्वरी, ब्रह्मपुरी बाजार व्यापार मंडल अध्यक्ष महेश धाभाई, रामगंज बाजार व्यापार मंडल अध्यक्ष हुकम चंद अग्रवाल, एम आई रोड व्यापार मंडल अध्यक्ष हरपाल सिंह पाली, संजय बाजार व्यापार मंडल महासचिव विष्णु गुप्ता सहित विभिन्न टे्रड व्यापारियों ने ट्रेड लाइसेंस का विरोध करते हुए इसे इंस्पेक्टर राज को बढ़ावा देने वाला काला कानून बताया।  

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार