सांगानेर की जनता के लिए जी रहा भारद्वाज का दिल

 - कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने की गौरव केसवानी की मां की आर्थिक मदद, दिए दो लाख रुपए


जस्ट टुडे
जयपुर। अपने लिए जिए तो क्या जिए, तू जी ऐ दिल जमाने के लिए। सांगानेर विधानसभा की जनता की सेवा कुछ ऐसे ही कर रहे हैं कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज। मानसरोवर स्थित पार्क में कुछ दिन पहले करंट से हुई मासूम गौरव केसवानी की मौत के बाद कई जनप्रतिनिधि सांत्वना देने तो उसके घर पहुंचे। लेकिन, उनमें से किसी ने भी मासूम की मां की मदद नहीं की। सिर्फ फोटो खिंचाकर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली। वहीं सांगानेर विधानसभा में कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने मंगलवार को दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता देकर मासूम की मां अनिता केसवानी के मुरझाए चेहरे पर रौनक ला दी। इस दौरान पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने कहा कि मुझे अपना ही बेटा समझना, जब भी जरूरत हो तो मुझे याद करना। भारद्वाज ने बताया कि इस राशि की व्यवस्था उन्होंने और उनकी टीम ने की है। इतना ही नहीं इस परिवार के अन्य बच्चों की पढ़ाई का बीड़ा भी पुष्पेन्द्र और उनकी टीम ने उठाया है।

सिन्धी समाज को वोट से ज्यादा कुछ नहीं समझती भाजपा


इस दौरान पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने कहा कि सांगानेर में वर्षों से सिन्धी समाज भाजपा को वोट देता आ रहा है। इसी के चलते भाजपा उम्मीदवार हमेशा सांगानेर से जीतते आ रहे हैं। लेकिन, भाजपा सिन्धी समाज को वोट बैंक से ज्यादा कुछ नहीं समझती है। इसलिए तो भाजपा ने कभी सिन्धी समाज का भला नहीं किया।

विधायक पर साधा निशाना
 पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने अप्रत्यक्ष रूप से सांगानेर विधायक पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में भी सांगानेर में विधायक भाजपा से ही हैं। उन्होंने अभी तक मासूम की मां को किसी भी तरह की आर्थिक सहायता नहीं दी है। आश्चर्य की बात यह है कि जिस कम्पनी की लापरवाही से मासूम गौरव केसवानी की मौत हुई, विधायक महोदय उसी कम्पनी से दो लाख रुपए का चेक लेकर आए। लेकिन, स्वाभिमानी मां ने उस चेक को लेने से इनकार कर दिया। उसके बाद से अभी तक विधायक ने मासूम की मां की किसी भी तरह से सहायता नहीं की है। पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने आरोप लगाया कि दोषी फर्म 5 लाख रुपए देने को तैयार थी, ऐसे में शेष 3 लाख रुपए किसकी जेब में जाने थे, यह सोचने वाली बात है। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर में नया अध्यक्ष चुनने आज एक जाजम पर बैठेंगे व्यापारी