तेल निकाल रहा जनता का 'तेल'

 तेल की धार...100 के पार...जनता करे हाहाकार

- पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों पर केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

- राजसमंद में सचिव और जिला प्रभारी पुष्पेन्द्र भारद्वाज और जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर ने संभाली कमान

जस्ट टुडे
राजसमंद। सखी सैंया तो खूब कमात है, महंगाई डायन खाय जात है। इस डायन रूपी महंगाई के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से सचिव और जिला प्रभारी पुष्पेन्द्र भारद्वाज और जिलाध्यक्ष देवकीनन्दन गुर्जर के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया गया। पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के मद्देनजर टीवीएस चौराहा स्थित पेट्रोल पम्प पर केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ जमकर विरोध-प्रदर्शन किया गया। इस दौरान केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई और तेल की बढ़ती कीमतों को वापस लेकर जनता को राहत देने की मांग की गई। कार्यकर्ताओं ने हाथों में तेल की कीमतों के विरोध में स्लोगन लिखी तख्यियां थीं। 

कोरोना में भी नहीं जनता पर रहम

इस दौरान जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान पेट्रोल-डीजल पर भावों में अप्रत्याशित वृद्धि हो रही है। ईंधन की कीमतों में निरंतर वृद्धि ऐसे समय हो रही है, जब देश कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। पेट्रोल की कीमतें देश में कई जगह 100 का आंकड़ा पार कर चुके हैं। जिसके कारण सभी घरेलू वस्तुओं और आवश्यक वस्तुओं के मूल्यों में बेतहाशा वृद्धि होगी। इसलिए केन्द्र सरकार बढ़ी कीमतें वापस लेने की मांग करते हैं।

5 माह में 43 बार बढ़ी तेल कीमत


साथ ही प्रदेश कांग्रेस महासचिव एवं जिला प्रभारी पुष्पेंद्र भारद्वाज ने केन्द्र की मोदी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि इस साल सिर्फ पांच महीनों में 43 बार तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। इससे साफ होता है कि केन्द्र सरकार तेल की धार की आड़ में जनता को लूटने का कार्य कर रही है। पेट्रोल-डीजल में हो रही अप्रत्याशित वृद्धि, ऊपर से आर्थिक मंदी और व्यापक बेरोजगारी केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार की नाकामियों को दर्शा रही हैं। 

विरोध-प्रदर्शन को इन्होंने दी धार

इस मौके पर पीसीसी सदस्य हरीसिंह राठौड़, पूर्व प्रमुख नारायण सिंह भाटी, ब्लॉक अध्यक्ष शांतिलाल कोठारी, जिला सचिव कुलदीप शर्मा, सभापति अशोक टांक, कैलाश मेवाड़ा, उप सभपाति चुन्नीलाल पंचौली, जिला महासचिव किशनलाल गाडरी, सरपंच मनोहर कीर, नोक लांल कुमावत, गणेश कुमावत, विजयप्रकाश सनाढ्य, पार्षद राजकुमारी पालीवाल, हेमंत रजक, हेमंत गुर्जर, हिम्मत कीर, मांगीलाल टाक, नारायण सुथार, प्रमोद पालीवाल, शंकर खटीक, सुनील, प्रभुसिंह राठौर, मनीष पालीवाल, लेखपाल गुर्जर, नरेश गुर्जर, कुलदीप आचार्य, शीतल नंदवाना सहित कई कार्यकर्ता और पदाधिकारी उपस्थित थे। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार