समर्पण संस्था ने ठाना...शिक्षा की अलख है जगाना

शिक्षा के लिए समर्पित समर्पण संस्था: शैक्षिक सत्र 2021-22 के लिए 100 जरूरतमंद विद्यार्थियों का किया गया चयन, 68 एम्बेसडर ने ली 71 विद्यार्थियों की जिम्मेदारी, शेष विद्यार्थियों की संस्था करेगी सहायता 

जस्ट टुडे
जयपुर।
समर्पण संस्था की ओर से शिक्षा की अलख जगाने के लिए चलाई जा रही मुहिम अब रंग लाने लगी है। संस्था की ओर से शैक्षिक सत्र 2021-2022 में 7 वें शिक्षा सहायता कार्यक्रम के तहत करीब 100 जरूरतमंद विद्यार्थियों की मदद की जाएगी। विद्यार्थियों को किताबें, फीस, नोटबुक, स्टेशनरी, स्कूल बैग, यूनिफॉर्म सहित शिक्षा के उपयोग में आने वाली सामग्री दिलवाई जाएंगी। संस्था की ओर से देशभर में करीब 68 एजुकेशनल एम्बेसडर नियुक्त किए गए हैं। इनमें सांगली सौराष्ट्र के पद्मश्री डॉ. विजय कुमार शाह को 'एजुकेशनल ब्राण्ड एम्बेसडर' नियुक्त किया गया है। 

आदर्श विद्यार्थी की मदद करेंगे एम्बेसडर

एक एजुकेशनल एम्बेसडर को जरूरतमंद 'समर्पण आदर्श विद्यार्थीÓ के शिक्षा के सभी खर्चों की जिम्मेदारी दी गई है। सभी एम्बेसडर प्रति वर्ष आदर्श विद्यार्थियों को शिक्षा सहायता उपलब्ध कराएंगे। संस्था की ओर से चयनित 71 आदर्श विद्यार्थियों की शिक्षा की जिम्मेदारी नियुक्त 68 एजुकेशनल एम्बेसडर्स को दी गई है। जिसमें संस्था के मुख्य संरक्षक सेवानिवृत्त आई.ए.एस. डॉ. बी.एल. जाटावत सहित कई अन्य ने दो  विद्यार्थियों की शिक्षा की जिम्मेदारी ली है। तथा शेष रहे 29 चयनित जरूरतमंद विद्यार्थियों को संस्था की तरफ से शिक्षा सहायता दी जाएगी।

संस्था ने इनको बनाया एम्बेसडर


संस्था ने डॉ. जाटावत सहित संस्था के प्रधान मुख्य संरक्षक जनाब अब्दुल सलाम जौहर, मुख्य सलाहकार व पूर्व जिला न्यायाधीश उदय चन्द बारूपाल, मुख्य संरक्षक सेवानिवृत्त कर्नल एस. एस. शेखावत, रावत एजुकेशनल गु्रप के निदेशक नरेन्द्र सिंह रावत को 'एजुकेशनल ब्रांड एम्बेसडर' नियुक्त किया है।

शिक्षा सहायता पखवाड़ा में देंगे मदद

शिक्षा सहायता उपलब्ध करवाने के लिए संस्था की ओर से कक्षा 1 से 10 तक के विद्यार्थियों के लिए आगामी 5 जुलाई से 20 जुलाई तक तथा कक्षा 11 से कॉलेज स्तर तक के विद्यार्थियों के लिए 25 जुलाई से 10 अगस्त तक शिक्षा सहायता पखवाडा आयोजित किया जाएगा। शिक्षा सहायता पखवाड़ा संस्था के करतारपुरा स्थित वस्त्र बैंक परिसर में प्रतिदिन अपराह्न 3 से 5 बजे तक आयोजित होगा। इसमें रोजाना 5 से 10 एजुकेशनल एम्बेसडर व समर्पण आदर्श विद्यार्थियों को बुलाया जाएगा। सभी एजुकेशनल एम्बेसडर को नियुक्ति-पत्र व समर्पण आदर्श विद्यार्थियों को परिचय पत्र दिया जाएगा। शिक्षा सहायता पखवाड़े में विद्यार्थियों को संस्था द्वारा एज्युकेशनल एम्बेसडर के जरिए शिक्षण सामग्री के तहत किताब, फीस, यूनिफॉर्म, स्टेशनरी, स्कूल बैग आदि दिए जाएंगे। 

ताकि समाज के लिए अच्छे विचार हों जागृत

संस्था की ओर से प्रत्येक समर्पण आदर्श विद्यार्थी से एक प्रपत्र भरवाया जा रहा है, जिसमें उनके द्वारा समाज हित में किए गए अच्छाई के कार्यों का उल्लेख करना होगा। जिसे किसी अन्य व्यक्ति द्वारा प्रमाणित करवाकर संस्था कार्यालय में जमा करवाना अनिवार्य होगा। संस्था का प्रयास है कि बच्चों में बचपन से ही समाज हित में अच्छे कार्य करने के लिए विचार जागृत हो। 

सेवा से ही सार्थक होती है शिक्षा

हमारी शिक्षा तभी सार्थक बनती है , जब वह त्याग, सेवा व सहयोग के साथ जुड़ जाती है। समाज के सम्पन्न व्यक्तियों का कमजोर वर्ग के प्रति संवेदनशील होना बहुत जरूरी है। हम यदि किसी को शिक्षा देते हैं, तो वह उसके जीवनभर का इन्तजाम होता है।
- दौलत राम माल्या, संस्थापक अध्यक्ष, समर्पण संस्था

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार