जस्ट टुडे का असर... 'दिवंगतों' का आसान हुआ सफर

- जस्ट टुडे ने 16 जून को 'आत्माओं के हक पर दबंगों का डाका' शीर्षक से समाचार किया था प्रकाशित

- जेडीए जोन-14 के अफसरों की टूटी नींद, अतिक्रमण किया ध्वस्त, रातल्या गांव में खुशी का माहौल


जस्ट टुडे
जयपुर।
डिग्गी मालपुरा रोड स्थित रातल्या गांव के मोक्षधाम की भूमि पर भू-माफियाओं की ओर से अतिक्रमण करने के मामले को जस्ट टुडे ने प्रमुखता से उठाया था। जस्ट टुडे ने 16 जून को 'आत्माओं के हक पर दबंगों का डाका' नामक शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इसमें बताया गया था कि रातल्या गांव में भू-माफियाओं ने मोक्षधाम की भूमि पर कब्जा कर लिया है। साथ ही मोक्षधाम की भूमि से मिट्टी और पेड़ भी अवैध रूप से काट लिए। जस्ट टुडे ने भू-माफियाओं की पूरी कारगुजारी को खबर में उजागर किया था। जस्ट टुडे ने जिम्मेदारों से भी इस सम्बंध में बात की थी और उनका पक्ष भी इस खबर में प्रकाशित किया था। 

नोटिस अवधि से पहले ही हटाया कब्जा

जस्ट टुडे में प्रमुखता से खबर प्रकाशित होने के बाद जयपुर विकास प्राधिकरण के जोन-14 के अफसरों की नींद खुली। उन्होंने तुरन्त मामले में कार्रवाई करते हुए नोटिस की अवधि पूरी होने से पहले ही गुरुवार शाम को अतिक्रमण को ध्वस्त कर मोक्षधाम की भूमि को आजाद करा दिया। जेडीए अफसरों ने तुरन्त अतिक्रमियों को तारबंदी, झाड़ी और पोल हटाने के निर्देश दिए। इस पर अतिक्रमियों ने तुरन्त कब्जा हटा दिया। 

जस्ट टुडे का जताया आभार

गांव वालों ने जस्ट टुडे का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि जस्ट टुडे हमेशा से निष्पक्ष जनहित के मुद्दे प्रकाशित करता है। समस्याएं का समाधान होने से जनता को राहत मिलती है। गांव वालों ने बताया कि अतिक्रमण हटने के बाद अब नरेगा मद से भूमि का समतलीकरण कार्य कराया जाएगा। टिन शेड सहित कई अन्य विकास के कार्य भी होंगे। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार