मुख्यमंत्री की अपील, युवाओं के नि:शुल्क टीकाकरण के लिए करें सहयोग

- वैक्सीनेशन के लिए डेडिकेटेड बैंक खाता खोला, भामाशाहों, समाज-सेवियों, दानदाताओं, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों और समाज के सभी वर्गों से मदद को आगे आने को कहा


जस्ट टुडे
जयपुर।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए नि:शुल्क वैक्सीनेशन की घोषणा के बाद अब दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गों से आर्थिक सहयोग के लिए अपील की है। गहलोत ने वैक्सीनेशन के लिए डेडिकेटेड बैंक खाता (Raj CMRF COVID VACCINATION ACCOUNT) खोलने की स्वीकृति दी है।
    मुख्यमंत्री के निर्देश पर बैंक खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की जयुपर सचिवालय शाखा में खोला गया है, जिसकी खाता संख्या 40166914665 और आईएफएससी कोड SBIN0031031  है। सहयोगकर्ता इस विवरण के साथ नकद, चैक एवं इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से इस खाते में सहयोग राशि हस्तान्तरित कर सकते हैं। इस खाते में प्राप्त दान राशि का प्रयोग केवल युवा वर्ग के नि:शुल्क टीकाकरण के लिए किया जाएगा। 

सीएम ने की सभी से अपील

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे मुख्यमंत्री सहायता कोष के अन्तर्गत वैक्सीनेशन के लिए डेडिकेटेड बैंक खाते में यथाशक्ति स्वैच्छिक सहयोग करें ताकि कोविड की इस भीषण चुनौती का हम सफलतापूर्वक सामना कर पाएं। गहलोत ने पूर्व में मुख्यमंत्री सहायता कोष कोविड-19 राहत कोष में आगे बढ़कर सहयोग करने के लिए भामाशाहों, दानदाताओं एवं समस्त प्रदेशवासियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि उनके इस समर्पण भाव से हम कोविड की पहली लहर का बेहतर प्रबंधन करने में कामयाब हुए। हमारा प्रयास है कि आगे भी सबके सहयोग से हम प्रदेशवासियों को कोरोना की इस दूसरी घातक लहर से बचाने में सफल हो सकें।

कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक

गहलोत ने कहा है कि पूरा देश और प्रदेश कोविड संक्रमण के गंभीर खतरे से जूझ रहा है। राज्य सरकार कोविड के बेहतर प्रबंधन के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध कराने के लिए चिकित्सा संसाधनों में किसी तरह की कमी नहीं रख रही है, लेकिन संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अधिकतम लोगों का वैक्सीनेशन जल्द से जल्द होना जरूरी है। इस दिशा में राज्य सरकार ने 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को भी निशुल्क वैक्सीन लगाने के लिए केन्द्र सरकार से कई बार आग्रह किया था। केन्द्र ने इसे राज्य सरकारों पर छोड़ दिया। चूंकि कोरोना की दूसरी वेव में युवा, बच्चे एवं गर्भवती महिलाएं भी अधिक संख्या में संक्रमित हो रहे हैं। इसके चलते राज्य सरकार ने प्रदेशवासियों की जीवनरक्षा को सर्वाच्च प्राथमिकता देते हुए राज्य में इस आयु वर्ग (युवा पीढ़ी) के लिए लगभग 2500 करोड़ रुपए वहन करते हुए नि:शुल्क टीकाकरण की घोषणा की है और 1 मई से प्रदेश में टीकाकरण प्रारम्भ भी हो गया है।  

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार