सांगानेर भाजपा मण्डल बना 'चमचा मण्डल'

 - सांगानेर भाजपा मण्डल की कार्यशैली से नाखुश वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने साधा निशाना...चमचागिरी हावी...विश्वसनीय लोग किए दरकिनार 

जस्ट टुडे
जयपुर।
कोरोना के पीक समय में अकर्मण्यता दिखाने पर कार्यकर्ताओं के निशाने पर रहे सांगानेर भाजपा मण्डल पर अब फिर 'अपनों' ने ही कड़ा प्रहार किया है। सांगानेर भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं का कहना है कि सांगानेर भाजपा मण्डल अब धीरे-धीरे चमचा मण्डल बनता जा रहा है। सांगानेर भाजपा मण्डल में चमचों की ही सुनी जा रही है। भाजपा के सिद्धांतों और सच कहने वालों को साइडलाइन किया जा रहा है। कार्यक्रमों में भी चमचा किस्म के लोग दिखाई दे रहे हैं। अनदेखी के चलते भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने भी सांगानेर भाजपा मण्डल से दूरी बना ली है। इससे सांगानेर में भाजपा की लोकप्रियता का ग्राफ नीचे आ गया है। वहीं कई कार्यकर्ताओं का कहना है कि कोरोना के पीक समय में जब मदद की जरूरत थी, तब तो कोई भी पदाधिकारी आगे नहीं आया। जब कोरोना समाप्ति की ओर है तो अभियानों के जरिए खानापूर्ति की जा रही है। हालांकि, इन सभी वरिष्ठ कार्यकर्ताओं का कहना है कि वे भाजपा के हैं और भाजपा के ही रहेंगे। हम केवल सांगानेर भाजपा मण्डल की कार्यशैली से नाराज हैं। पार्टी मां समान होती है। भाजपा से हमारी कोई नाराजगी नहीं है। 

भाजपा मण्डल में चमचों का राज...उन्हीं के हो रहे काज

सांगानेर भाजपा मण्डल की ओर से काफी समय से वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की पूरी तरह उपेक्षा की जा रही है। सांगानेर मण्डल में अब चमचों का राज है। चमचे किस्म के लोग हर बात में 'हां' में सिर हिलाते हैं। वहीं जो लोग उनकी विचारधारा से सहमत नहीं होते हैं, उनको साइडलाइन किया जा रहा है। ऐसे में सांगानेर भाजपा मण्डल में सुनवाई भी चमचों की हो रही है। नगर-निगम टिकट वितरण हो, निगम समितियों में सदस्य बनाने हों, सांगानेर भाजपा मण्डल की कार्यकारिणी बनानी हो, हर जगह सिर्फ चमचों को ही वरीयता दी गई। सैनिटाइजर, मास्क वितरण में भी चमचा किस्म के लोग ही पहुंचते हैं। अपनी उपेक्षा के चलते वरिष्ठ कार्यर्ताओं ने भी मण्डल से दूरी बना ली है। इन्हीं चमचों के जरिए जबरदस्ती सांगानेर भाजपा मण्डल को खींचा जा रहा है। सांगानेर भाजपा मण्डल में मनमर्जी का आलम यह है कि कभी भी किसी को पद से मुक्त कर दिया जाता है, वहीं किसी को भी नियुक्तियां दे दी जाती हैं। - भगवान सिंह जादौन, वरिष्ठ कार्यकर्ता, सांगानेर भाजपा

 यह पत्र 20 जुलाई 2020 का है। इसमें विधायक लाहोटी ने 500 मीटर सड़क बनाने के लिए नगर-निगम आयुक्त को पत्र लिखा था। फिर भी करीब एक साल बाद भी अभी तक यह सड़क नहीं बनी है। 

सैनिटाइजर अभियान में निभाई जा रही है औपचारिकता

मैं भाजपा से करीब 25 वर्षों से जुड़ा हुआ हूं और वार्ड 91 का निवासी हूं। सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी को 500 मीटर सड़क के लिए कई बार बोल चुके हैं, लेकिन, आज तक सड़क नहीं बनी है। वहीं विधायक की ओर से सैनिटाइजर और मास्क वितरण का कार्य किया रहा है, लेकिन, हमारे यहां अभी तक सैनिटाइजर नहीं किया गया है। दो दिन पहले पार्षद आशीष परेवा ने वार्ड को सैनिटाइजर करवाया है। ऐसे में विधायक की ओर से सैनिटाइजर अभियान सिर्फ औपचारिकता बनकर रह गया है। सांगानेर भाजपा मण्डल की कार्यकारिणी भी मन से बनाई गई है। भाजपा के मूल कार्यकर्ताओं को उसमें नहीं जोड़ा गया है। कांग्रेस और दीनदयाल वाहिनी के लोगों को उसमें ले लिया है। सच बोलने वाले और विकास कार्यों के लिए कहने वाले लोगों को सांगानेर भाजपा मण्डल में पसन्द नहीं किया जाता है। विकास कार्यों के लिए बार-बार बोलने पर उन्हें बुरा लगता है। वे कई बार कह चुके कि विकास कार्यों के लिए बार-बार मत बोला करो। सांगानेर भाजपा मण्डल को तलवे चाटने वाले, सोशल मीडिया पर खबर शेयर करने वाले, जयकारा लगाने वाले लोग ही पसंद आते हैं।
- भगवान सिंह नरूका,  वरिष्ठ कार्यकर्ता, भाजपा सांगानेर

विधायक लाहोटी की लोकप्रियता में आई कमी

सांगानेर भाजपा मण्डल में चमचागिरी ही हावी है। चमचों की वजह से सांगानेर विधानसभा में सांगानेर भाजपा मण्डल का बेडा गर्क हो रखा है। सांगानेर भाजपा मण्डल में 10 वार्ड आते हैं। पिछले ढाई साल में किसी भी वार्ड में कोई भी विकास कार्य विधायक कोटे से नहीं करवाया गया है। विधानसभा में जिन वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने भाजपा को विजयी बनाया, उनको मण्डल कार्यकारिणी में जगह ही नहीं दी गई। वहीं जिन लोगों ने चुनाव में भाजपा के विपक्ष में काम किया था, उन लोगों को पद से सुशोभित कर दिया गया है। पिछले ढाई वर्ष में भाजपा की लोकप्रियता में जबरदस्त गिरावट आई है। विधायक अशोक लाहोटी का जनता से जुड़ाव नहीं है। चार-पांच लोग उन्हें घेरे रहते है, ऐसे में विधायक की लोकप्रियता बहुत कम हो चुकी है। जनप्रतिनिधि को जनता के बीच में ही रहना चाहिए। कोरोना काल में कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने शानदार काम किया है। जबकि विधायक की ओर से ऐसा कुछ भी नहीं किया गया। अभी सैनिटाइजर अभियान में भी औपचारिकता चल रही है। मेरा वार्ड 96 है, वहां भी अभी सैनिटाइजर नहीं किया गया है। वहीं कांग्रेस पार्षद दो बार वार्ड को सैनिटाइजर करवा चुके हैं।
- राजेन्द्र चंदेरा, वरिष्ठ कार्यकर्ता, भाजपा सांगानेर

चमचों ने किया सांगानेर भाजपा का बेडा गर्क

सांगानेर भाजपा मण्डल में सिर्फ और सिर्फ चमचों का ही बोलबाला है। चमचों की वजह से सांगानेर में भाजपा का बेडा गर्क हो चुका है। वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की अनदेखी की जाती है। पार्टी के किसी कार्यक्रम की सूचना भी वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को नहीं दी जाती है। हर जगह चमचों का ही जमावड़ा रहता है। कोरोना काल में मण्डल की ओर से कार्यकर्ताओं की सुध ही नहीं ली गई। सैनिटाइजर भी हर जगह नहीं हो पा रहा है। कांग्रेस पार्षद ने हमारे वार्ड में सैनिटाइजर करवा दिया है। मैंने सुना है कि विधायक लाहोटी ने भी यहां पर सैनिटाइजर करवाया था। विधायक लाहोटी की ओर से अभी तक कोई भी विकास कार्य नहीं करवाया गया है। जनता की असली सेवा तो विकास कार्यों से ही की जा सकती है। - धर्मेन्द्र कुमार शर्मा, वरिष्ठ कार्यकर्ता, भाजपा सांगानेर

जूते की दम पर तीसरी बार बना हूं अध्यक्ष, ऐसा कहकर कार्यकर्ताओं का किया अपमान...मीटिंग में पदाधिकारियों से लेंगे जवाब

 अभी हाल ही में भाजपा के एक वरिष्ठ कार्यकर्ता ने वाट्स एप ग्रुप पर भी सांगानेर भाजपा मण्डल से अपनी नाराजगी जाहिर की थी। इसमें लिखा हुआ था कि सांगानेर भाजपा मण्डल की ओर से वार्ड 88 और वार्ड 91 के कार्यकर्ताओं से सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। इसमें लिखा था कि कार्यकर्ताओं को ढाई वर्ष पागल बनाकर मनमुताबिक हाजिरी लगवाते रहे। मैंने जब कार्यकारिणी के बारे में बात की तो मेरे वार्ड के कार्यकर्ताओं को दिहाड़ी मजदूर कहा। साथ ही कहा कि आगामी चुनावों में बूथ से लेकर फील्ड तक दिहाड़ी वाले कार्यकर्ताओं की लाइन लगा दूंगा। जूता ठोककर कहा कि इस जूते से तीसरी बार अध्यक्ष बनकर आया हूं। ऐसे बड़बोले वचन बोलकर मेरा और मेरे साथी कार्यकर्ताओं का अपमान किया गया। मैं इन शब्दों को हमेशा ध्यान में रखूंगा और जब भी मंडल में मीटिंग होगी, वहां पदाधिकारियों से इसका जवाब लूंगा। इन वरिष्ठ कार्यकर्ता ने आगे लिखा कि हम मेहनत करना जानते हैं तो फिर चमचागिरी क्यों करें? ढाई वर्ष हमें धोखे और झूठ के सिवाय हमें कुछ नहीं मिला। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर में नया अध्यक्ष चुनने आज एक जाजम पर बैठेंगे व्यापारी