सांगानेर बाजार में चल रहा था दुकान बंद का ढोंग, मालपुरा गेट थाना पुलिस ने किया भण्डाफोड़

- सांगानेर मुख्य बाजार सहित कई जगह अवैध रूप से खुली हुई थी दुकानें

- मालपुरा गेट थाना इंचार्ज रायसल सिंह के निर्देश पर पुलिस टीम ने काटा चालान और महामारी एक्ट में दर्ज किया मुकदमा

- सांगानेर कस्बे की करीब 8 दुकानों पर बुधवार को किया गया मुकदमा दर्ज, अब तक 15 मुकदमे महामारी एक्ट में दर्ज


जस्ट टुडे
जयपुर।
कोरोना की पहली लहर के बाद अब सांगानेर दूसरी लहर में भी संक्रमण का हॉट स्पाट बना हुआ है। राज्य सरकार ने कोरोना पर लगाम के लिए अपने सभी इंतजाम झोंक दिए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपना पूरा बजट इसमें देने की भावुक अपील भी कर चुके हैं। इसके बाद भी सांगानेर के कुछ व्यापारी निजी स्वार्थ के चलते कोरोना संक्रमण फैला रहे हैं। लॉकडाउन के बाद भी इन लोगों ने निजी स्वार्थ की पूर्ति के लिए अनोखा हथकण्डा अपनाया है। इन लोगों ने दुकान के बाहर ताला लगा रखा है और अंदर ग्राहक बैठा रखे हैं। ये लोग चुपचाप शटर को ऊपर-नीचे करने का कार्य कर रहे हैं। मालपुरा गेट थाना पुलिस को इन स्वार्थी दुकानदारों की करतूत का पता चल गया और उन्होंने ना केवल इनका चालान काटा बल्कि महामारी एक्ट में भी मुकदमा दर्ज कर दिया। 

महामारी में दर्ज किया केस, कोर्ट में पेश होगा चालान



मालपुरा गेट थाना इंचार्ज रायसल सिंह ने बताया कि कोरोना के चलते थाना पुलिस रोजाना की तरह बुधवार को भी गश्त पर थी। इस दौरान सांगानेर मुख्य बाजार में राधिका वस्त्र भण्डार की दुकान में अंदर से कुछ आवाज आ रही थीं। पुलिस को शक हुआ, उन्होंने दुकान मालिक मनीष नाटाणी को फोन कर बुलाया। पुलिस ने उससे दुकान खोलने को कहा तो आनाकानी करने लगा, बाद में उसने दुकान खोली तो माजरा समझ में आया। उसकी कपड़े की दुकान से ग्राहकों का रेला निकला। दुकान बाहर से बंद थी और अंदर ग्राहकी हो रही थी। पुलिस ने मौके पर दुकान मालिक का 500 रुपए का चालान काटा और सभी को गिरफ्तार करके मालपुरा गेट थाना ले गई। वहां पर उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। पुलिस ने राधिका वस्त्र भंडार के संचालक मनीष नाटाणी के खिलाफ महामारी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है। अब पुलिस कोर्ट में इसके खिलाफ चालान पेश करेगी। थाना इंचार्ज ने बताया कि टीम में एसआई अनिल टेलर, हैड कानिस्टेबल ईश्वर सिंह, कान्स्टिेबल दशरथ सिंह,  लक्ष्मीचंद सहित कई पुलिसकर्मी शामिल थे। 

पिछले 5 दिनों में 15 मुकदमे दर्ज

मालपुरा गेट थाना इंचार्ज रायसल सिंह ने बताया कि बुधवार को सांगानेर कस्बे की ऐसी 7-8 दुकानों पर कार्रवाई की गई। पिछले 5 दिनों में महामारी एक्ट में करीब 15 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। वहीं करीब 10-12 हजार रुपए के चालान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना में पुलिस मुस्तैद है। यदि कोई भी कानून का उल्लंघन करेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने जनता और व्यापारियों से अपील की है कि कोई भी कानून नहीं तोड़े और कोरोना की गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करे। 

ऐसे देते हैं व्यापारी कारस्तानी को अंजाम

जस्ट टुडे को सांगानेर बाजार के स्थानीय व्यापारियों ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि दुकान मालिक बाहर से तो दुकान पर ताला लगा देते हैं। अपने एक आदमी को बाहर खड़ा रखते हैं। वह दुकान के आस-पास मंडराता रहता है। दुकान के अंदर जब ग्राहक सामान खरीद लेते हैं तो अंदर मौजूद दुकानदार उसे फोन करता है, वह मौका देखकर चुपचाप लॉक खोलकर शटर को ऊपर उठा देता है और अंदर के ग्राहकों को बाहर और बाहर के ग्राहकों को अंदर कर देता है। व्यापारियों का कहना है कि कुछ व्यापारियों की वजह से सभी बदनाम होते हैं। साथ ही कोरोना में जहां सभी लोगों को अपनी जान की परवाह है, वहीं ये लोग इसमें भी व्यापार को तवज्जो दे रहे हैं। यदि इनमें से कोई बीमार हो गया तो फिर इनका इलाज कहां होगा? शायद यह बात इनको नहीं पता है, क्योंकि, कोरोना की दूसरी लहर में जयपुर सहित राज्य के सभी अस्पताल मरीजों से ओवरलोड हैं। कोई भी अस्पताल अब मरीजों को भर्ती नहीं कर रहा है। ऑक्सीजन सहित जरूरी उपकरण और दवाएं भी बाजार में नहीं हैं। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर बाजार में पटाखे की चिंगारी कहर बनकर टूटी