सांगानेर के 30 घरों में हुआ कोरोना सर्वे, 3 बीमार को दी मेडिकल किट

 - आंगनबाड़ी कार्यकर्ता नवरत्न छीपा और आशा सहयोगिनी अनोप देवी घर-घर जाकर कर रहे कोरोना संक्रमितों का सर्वे


जस्ट टुडे
जयपुर।
जयपुर जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए घर-घर जाकर डोर-टू डोर सर्वे का कार्य जारी है। सांगानेर विधानसभा में भी कई दिनों से कोरोना वॉरियर्स इस काम को बखूबी अंजाम दे रहे हैं। ये कोरोना वॉरियर्स सर्वे में लक्षणगस्त व्यक्तियों की पहचान कर उनमें कोविड संभावित लक्षण या फ्लू जैसे लक्षण, बुखार, सर्दी-जुकाम, खांसी होने पर उन्हें आवश्यक एहतियायत बरतने की सलाह दे रहे हैं, साथ ही एक मेडिकल किट भी दी जा रही है। साथ ही उनका रिकॉर्ड भी संधारण कर रहे हैं। 

यहां किया गया सर्वे

सांगानेर में सर्वे कार्य कर रही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता नवरत्न छीपा ने बताया कि सोमवार को उन्होंने नाहर मोहल्ला, बाबाजी की हवेली के पास बद्री नाथ मंदिर, नामदेव चौक सहित कई जगह घर-घर सर्वे किया। इसमें करीब 30 लोगों का रिकॉर्ड संधारित किया गया। इन लोगों को कोरोना से बचाव और प्रोनिंग का सही तरीका बताया गया। 

मेडिकल किट में यह होता है



आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बताया कि 30 लोगों से सर्वे में करीब 3 लोग बीमार मिले, जिन्हें चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से मेडिकल किट भी दी गई। इस किट में बुखार, बी-कॉम्पलेक्स, एंटी-बायोटिक दवा होती है, इसमें दवाओं को कैसे लेना है, इसका भी पूरा विवरण होता है। 

3 गर्भवतियों की कराई कोविड जांच


उन्होंने सांगानेर स्टेडियम में 8 माह पूरे करने वाली गर्भवतियों की भी कोविड जांच कराई। उनके सेंटर पर ऐसी 3 गर्भवती महिलाएं थीं। उन्होंने कहा कि इस दौरान एक महिला अस्थमा से पीडि़त भी मिली। परिजन उनका घर पर पानी वाली मशीन से ऑक्सीजन दे रहे हैं, उन्हें भी हमारी ओर से आवश्यक जानकारी दी गईं। इस दौरान आशा सहयोगिनी अनोप देवी का भी पूरा सहयोग रहा। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार