वार्ड 104 में खुली शराब की दुकान...लोगों ने किया हंगामा, दिया धरना

- लादूराम मावे वाले के सामने रातों-रात खुल गई शराब की दुकान, बढ़ेगी अराजकता

- स्थानीय निवासियों ने किया दुकान का विरोध, धरने में शामिल हुए पार्षद, नागरिक शक्ति मंच और सांगा सेतु व्यापार मंडल

- शराब की दुकान के एक तरफ मंदिर और दूसरी तरफ मस्जिद...सामने है अस्पताल, फिर भी दे दी अनुमति


जस्ट टुडे
जयपुर।
इसकी बेटी ने उठा रखी है सर पर दुनिया...ये तो अच्छा हुआ अंगूर को बेटा ना हुआ। एक मशहूर शायर की ये पंक्तियां बिलकुल सटीक बैठ रही हैं। राजस्व बढ़ाने के लिए सरकार की नई आबकारी नीति लोगों के लिए जी का जंजाल बनती जा रही है। हर गली-नुक्कड़ पर खुल रहीं शराब की दुकानों से स्थानीय निवासी परेशान हैं। ताजा मामला वार्ड 104 का है। वार्ड 104 में सांगानेर थाने से सांगा सेतु पुलिया जाने वाली रोड पर लादूराम मावे वाले के सामने शराब की नई दुकान खुली है। स्थानीय निवासियों ने सोमवार को शराब की दुकान खुलने का विरोध किया। विरोध में शामिल महिलाओं ने इस दुकान को शीघ्र बंद करने की मांग की। वार्ड 104 पार्षद, नागरिक शक्ति मंच और सांगा सेतु व्यापार मंडल ने भी शराब की दुकान खुलने का स्थानीय निवासियों के साथ धरना दिया।

शांत प्रिय क्षेत्र में बढ़ जाएगी अराजकता


विरोध-प्रदर्शन में महिलाओं ने भी भाग लिया। स्थानीय निवासियों ने बताया कि रात ही रात में यहां शराब की दुकान खुल गई। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र आवासीय है, ऐसे में यहां पर शराब की दुकान खुलने से समाजकंटकों का डेरा रहेगा और शांत प्रिय क्षेत्र में अराजकता बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्य मार्ग होने से यहां पर हर समय आवागमन रहता है। ऐसे में बच्चे भी यहां से आते-जाते हैं। स्कूली बच्चे भी यहां से आवागमन करते हैं। ऐसे में शराब की दुकान खुलने से बच्चों के बालमन पर विपरीत असर पड़ेगा। उन्हें भी इसकी लत लगने की आशंका को बल मिलेगा। इसलिए हम इस शराब की दुकान के खुलने का विरोध करते हैं। 

स्थानीय निवासियों को मिला पार्षद का साथ

स्थानीय निवासियों की सूचना पर मौके पर पहुंचे वार्ड 104 के पार्षद अरुण शर्मा ने बताया कि आवासीय क्षेत्र में रातों-रात शराब की दुकान खुल गई है। इसका हम सभी विरोध करते हैं, सरकार से मांग है कि इसे यहां ना खोलकर व्यावसायिक गतिविधि वाले क्षेत्र में खोला जाए। आवासीय क्षेत्र में खोलने से स्थानीय निवासियों का जीवन नरक के समान हो जाएगा। बच्चों पर भी इसका बुरा असर पड़ेगा। शर्मा ने बताया कि इस शराब की दुकान के सामने अस्पताल भी है। पास में ही मंदिर और मस्जिद भी है। फिर भी यहां पर शराब की दुकान खोलने की अनुमति दे दी है, जो नियमानुसार सही नहीं है। मैं वार्डवासियों के साथ इस शराब की दुकान को बंद कराने का आग्रह करता हूं। वार्डवासियों के साथ तब तक धरने पर बैठा रहूंगा, जब तक यह शराब की दुकान यहां से नहीं हट जाती है। 

जब तक नहीं हटेगी दुकान...जारी रहेगा धरना

नागरिक शक्ति मंच के अध्यक्ष एडवोकेट अभिषेक शर्मा ने बताया कि यह शराब की दुकान रातों-रात ही खुल गई। आश्चर्य की बात यह है कि इस शराब की दुकान के ऊपर क्लीनिक भी है। सामने एक बड़ा निजी अस्पताल रीजन भी है। शराब की दुकान के एक तरफ माताजी का मंदिर है और दूसरी तरफ मस्जिद है। इसके बाद भी यहां पर शराब की दुकान खुल गई है, जो नियमानुसार भी सही नहीं है। नागरिक शक्ति मंच इसका विरोध करता है। स्थानीय निवासियों के साथ मंच के सदस्यों ने इसका विरोध किया और धरना दिया। यह शराब की दुकान रिहायशी क्षेत्र में खोल दिया। दुकान खुलने के बाद नौनिहाल कौतुहलवश उसके आस-पास घूम रहे हैं, जो किसी भी प्रकार से उचित नहीं है। जब तक यह दुकान बंद नहीं होगी, हम धरना-प्रदर्शन देते रहेंगे। इनके साथ धरनास्थल पर मंच की सदस्य आशा आलवानी भी मौजूद थीं। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार