मकान में तोडफ़ोड़ से बवाल...थाने पर वकीलों में उबाल...पार्षद को गिरफ्तार करने की मांग

 - वार्ड 89 निवासी एडवोकेट टीकम शर्मा ने पार्षद गिर्राज शर्मा पर लगाया द्वेषतापूर्ण मकान में तोडफ़ोड़ करने और मारपीट का आरोप
साथी अधिवक्ता को जातिसूचक शब्द कहने का लगाया आरोप...मालपुरा थाने में दी शिकायत



जस्ट टुडे
जयपुर।
सांगानेर में निकाय चुनाव से शुरू हुई भाजपा की अंदरूनी फूट अब खुलकर सामने आने लग गई है। सांगानेर में भाजपा में बुधवार को यही नजारा देखने को मिला। वार्ड 89 में अतिक्रमण हटाने को लेकर पार्षद गिर्राज शर्मा और एडवोकेट टीकम शर्मा में तकरार हो गई। यह तकरार इतनी बढ़ गई कि मामला थाने तक पहुंच गया। एडवोकेट टीकम शर्मा ने वार्ड 89 पार्षद पर द्वेषतापूर्ण मकान पर तोडफ़ोड़ करने और मारपीट का आरोप लगाया है। एडवोकेट टीकम शर्मा के समर्थन में सांगानेर के सभी वकील सहित हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भुवनेश शर्मा और सैकड़ों वकील मालपुरा गेट थाने पर पहुंच गए। उन्होंने पार्षद गिर्राज शर्मा को गिरफ्तार करने की मांग की। बाद में मालपुरा गेट थानाधिकारी रायसल सिंह ने वकीलों के पदाधिकारियों से गुरुवार दोपहर 1:30 बजे तक का समय मांगा, इसके बाद वकील शांत हुए। ज्ञात हो कि एडवोकेट टीकम शर्मा भी सांगानेर में भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता हैं। 

उधारी के पैसे मांगे तो पार्षद ने दिखाई दादागिरी : एडवोकेट टीकम शर्मा

इन तस्वीरों में देख सकते हैं कि मकान टूटने का दर्द क्या होता है। 


 89 निवासी और एडवोकेट टीकम शर्मा ने बताया कि वार्ड 89 पार्षद गिर्राज शर्मा को मैंने पैसे उधार दिए थे। मैं लगातार उनसे मेरे पैसे वापस मांगता रहता था। इस पर पार्षद गिर्राज शर्मा ने कहा कि मैं आपको पैसे नहीं दूंगा। मैंने कहा कि यदि आप पैसे नहीं दोगे तो मैं कानूनी कार्रवाई करूंगा। इसके बाद पार्षद गिर्राज शर्मा मेरी कॉलोनी में आया था और कहा कि अब मैं पार्षद बन गया हूं। तुझे पार्षद की ताकत के बारे में पता नहीं है। मैं तेरे मकान और उसके आस-पास के मकानों को तुड़वाने की ताकत रखता हूं। बुधवार को मैं न्यायालय में पैरवी करने गया था। उसे यह बात पता चल गई। उस दौरान पार्षद ने राजनीतिक पहुंच का इस्तेमाल किया और मेरे घर पर पहुंचा। इतना कहते-कहते एडवोकेट टीकम शर्मा भावुक हो गए और मीडिया के सामने उनका दर्द आंखों के रास्ते बाहर आ गया। साथी वकीलों ने उनको ढांढस बंधाई। इसके बाद उन्होंने बताया कि मैंने अभी नया मकान बनवाया है, उसका रैम्प तुड़वा दिया। घर के अंदर घुसकर मारपीट की, अभद्रता की। मेरी साथी अधिवक्ता से जातिसूचक शब्द कहे। इस सम्बंध में हमने मालपुरा थाने में शिकायत दर्ज कराई है। 

एडवोकेट के साथ ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण: अध्यक्ष बार एसोसिएशन



हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भुवनेश शर्मा ने कहा कि एडवोकेट के साथ इस तरह की घटना होना बड़ी ही दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं मीडिया के जरिए जेडीसी को यह कहना चाहता हूं कि सिर्फ पार्षद के कहने से इस तरह की कार्यवाही कर दी। पार्षद ने राजनीतिक प्रतिद्वंदिता के चलते एक एडवोकेट का मकान तुड़वाया है, जो बिलकुल गलत है। मालपुरा गेट थानाधिकारी ने हमें पार्षद को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है। 

वकीलों ने की पार्षद को गिरफ्तार करने की मांग, सड़क की जाम


मालपुरा गेट थाने पर एडवोकेट टीकम शर्मा के समर्थन में सैकड़ों वकील पहुंचे। उन्होंने पार्षद गिर्राज शर्मा के खिलाफ एक अन्य वकील साथी को जातिसूचक शब्द कहने का मामला दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की। वकीलों ने मालपुरा थाने के सामने नारेबाजी भी की और पार्षद को जल्द गिरफ्तार करने की पुरजोर मांग की। मामला बढ़ता देख मालपुरा थाने में अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त अशोक चौहान, सहायक पुलिस आयुक्त नेमीचंद खारिया भी पहुंच गए। वहां उन्होंने बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मीटिंग की। बार एसोसिशन ने पुलिस को पार्षद गिर्राज शर्मा को तुरन्त गिरफ्तार करने की मांग की। पुलिस की ओर से कोई कार्यवाही नहीं होते देख वकीलों ने मालपुरा थाने के सामने सड़क को जाम कर दिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की। वकीलों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक पार्षद गिर्राज शर्मा को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा, तब तक यहां से नहीं हटेंगे। बाद में वकील पदाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों के बीच कई दौर की बातचीत हुई। उसमें करीब 8 बजे बार एसोसिएशन ने पुलिस को गुरुवार दोपहर 1:30 बजे तक पार्षद को गिरफ्तार करने का समय देकर धरना समाप्त कर दिया।

यह है असली मामला

सांगानेर में बुधवार को जो मामला हुआ है, उसकी नींव निकाय चुनाव में ही रखी जा चुकी थी। वार्ड 89 से एडवोकेट टीकम शर्मा भाजपा से टिकट की मजबूत दावेदारी में थे। गिर्राज शर्मा भी वार्ड 89 से टिकट मांग रहे थे। उससे पहले दोनों अच्छे मित्र भी थे। एडवोकट टीकम शर्मा वार्ड 89 के ही निवासी थे, ऐसे में उनकी दावेदारी ज्यादा मजबूत थी। लेकिन, भाजपा की ओर से निकाय चुनाव में गिर्राज शर्मा को टिकट दिया। उस दौरान दोनों में ही मनमुटाव हो गया था। 

Popular posts from this blog

सांगानेर में उचित मूल्य की दुकानों पर व्यवस्था नहीं उचित

सांगानेर से फिर एक बार पुष्पेन्द्र भारद्वाज

सांगानेर में 13 ने लिया नाम वापस, अब 37 प्रत्याशी मैदान में