पार्षद के गार्डन जैसे सब हो जाएं, तो दिल हो गार्डन...गार्डन

- पार्षद पर लगाया वार्ड 75 में पार्कों के विकास में भेदभाव का आरोप...युवा एकता मंच ने पार्षद को ही दिया शिकायती-पत्र

जस्ट टुडे
जयपुर। सांगानेर विधानसभा के वार्ड 75 के हर सेक्टर में तीन-चार पार्क हैं...लेकिन, सिर्फ एक पार्क को छोड़कर सभी की स्थिति बदहाल है। वार्डवासियों का आरोप है कि पार्षद के घर के सामने जो पार्क बना हुआ है, बाकी सेक्टर में ऐसा शानदार पार्क दूसरा और कोई नहीं है। वार्डवासियों ने पार्षद पर पार्कों के विकास में भेदभाव का आरोप लगाया है। वार्डवासियों का कहना है कि दूसरे पार्कों की सुध लेने अभी तक कोई भी नहीं आया है। युवा एकता मंच के अध्यक्ष जयप्रकाश बुलचंदानी ने पार्कों के विकास में भेदभाव को लेकर पार्षद को शिकायती पत्र भी दिया है। 

इस पार्क जैसे बनें दूसरे पार्क भी


युवा एकता मंच के अध्यक्ष जयप्रकाश बुलचंदानी ने पार्षद को जो शिकायती पत्र सौंपा है। उसमें बताया गया है कि पार्षद भारती लख्यानी के घर के सामने स्थिति पार्क में 11 जिम मशीनें, 11 सोलर लाइटें, 10 एलईडी लाइट लगी हुई हैं। बच्चों के खेलने के लिए 8 झूले, 12 बैंच बैठने के लिए, नए गेट, कचरा पात्र, पार्क के बाहर टाइल, रैम्प और पार्क के अंदर वॉक-वे, बाउण्ड्री वॉल भी बड़ी बनी हुई है। इसके अलावा पार्क में पेड़-पौधे, फुलवारी हैं, उनके चारों तरफ ईंटों का सुरक्षा कवच बनाया गया है। पार्क में घास भी अच्छी क्वालिटी की लगी हुई है। पार्क में अच्छी कंडीशन में दो बाथरूम बने हुए हैं। बुलचंदानी ने बताया कि यह पार्क सर्वसुविधा सम्पन्न हैं, वार्डवासी चाहते हैं कि पार्षद सभी पार्कों का विकास इसी पार्क की तर्ज पर कराएं। 

असामाजिक तत्वों का रहता है डेरा

युवा एकता मंच के अध्यक्ष जयप्रकाश बुलचंदानी ने बताया कि वार्ड 75 में करीब 25 पार्क हैं, जिनमें से ज्यादातर की हालत दयनीय है। हालांकि, कई पार्कों की हालत ठीक है। लेकिन, पार्षद के घर के सामने वाले पार्क जैसा विकसित दूसरा अन्य पार्क नहीं है। वार्ड के ज्यादातर पार्कों की स्थिति दयनीय है। वे पार्क अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहे हैं। कई पार्कों में तो असमाजिक तत्वों का बसेरा रहता है, जिससे वहां जाने में बच्चे, बूढ़े सहित सभी लोग कतराते हैं। कई पार्कों में आवारा पशु विचरण करते हैं और पार्क में गंदगी फैला रहे हैं। कई पार्कों में खरपतवार उगी हुई है, उनमें जहरीले जानवरों का डर रहता है। पार्कों में गंदगी के चलते आस-पास के लोग बदबू में जीने को मजबूर हैं। गंदगी से मच्छर-मक्खी भी पैदा होकर घरों में भोजन सामग्री पर मंडराते रहते हैं। इससे अनजान बीमारियों का डर हमेशा वार्डवासियों में बना रहता है। 

पार्कों से हटे अतिक्रमण

वार्ड के कई पार्कों में जनप्रतिनिधि और निगम की उदासीनता के चलते अतिक्रमण हो चुका है। अतिक्रमियों ने कई पार्कों की चारदीवारी को तोड़कर अवैध थडिय़ा लगा ली है। इससे सरकारी सम्पत्ति का तो नुकसान हुआ ही है, साथ ही उन थडिय़ों पर हमेशा समाजकंटकों का डेरा रहता है। इससे वार्ड वासियों में किसी अनहोनी की चिंता हमेशा बनी रहती है। वार्डवासियों ने पार्षद और निगम से पार्कों को अतिक्रमण मुक्त कराने का आग्रह किया है। 

...तो नहीं बचेगी खेलने की जगह

पार्कों की बदहाल स्थिति से स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी है। आम लोगों का कहना है कि पार्कों की देखरेख के लिए ना तो जनप्रतिनिधि कदम उठा रहे हैं और ना ही निगम ध्यान दे रही है। स्थानीय लोगों के मुताबिक यह हालात तो तब हैं, जब निगम में पार्कों की देखरेख के लिए उद्यान विभाग बना हुआ है। इसके बाद भी पार्कों की हालत दयनीय है। कई जगहों पर कॉलोनीवासियों ने पैसा एकत्र कर पार्कों की देखरेख कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि यदि देखरेख नहीं करेंगे तो बच्चों के लिए खेलेने की जगह ही नहीं बचेगी। 

इनका कहना है


मैं पार्षद के घर के पास रहता हूं। हमारे पार्क में बच्चों के लिए झूले हैं, जिम हैं। पार्क का पूरा विकास हो रखा है। वहीं वार्ड के अन्य पार्क सुविधाओं के लिए मोहताज हैं। हम चाहते हैं कि वार्ड के सभी पार्क हमारे पार्क जैसे हो जाएं। - जय, वार्ड 75 निवासी




वार्ड में पार्कों की हालत बहुत ही बदतर है। चारों ओर गंदगी का साम्राज्य है। बच्चों के लिए झूले नहीं है। वहीं पार्षद के घर के सामने वाला पार्क सर्वसुविधा सम्पन्न है। हम चाहते हैं कि पार्षद के घर के सामने जैसा पार्क है, सारे वार्ड के पार्क भी ऐसे ही सुविधापूर्ण होने चाहिए।
- ताराचंद सैनी, वार्ड 75 निवासी



Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर बाजार में पटाखे की चिंगारी कहर बनकर टूटी