पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने दिया घनश्याम कूलवाल को तोहफा

- राज्य सरकार ने प्रदेश के सरकारी कॉलेजों में विकास के लिए गठित की विकास समिति, प्रत्येक में दो प्रबुद्ध नागरिक शामिल

- सांगानेर के कन्या कॉलेज की विकास समिति में घनश्याम कूलवाल और अशोक स्वामी को किया शामिल

जस्ट टुडे
जयपुर।
राज्य सरकार ने प्रदेशभर के सरकारी कॉलेजों में विकास समिति का गठन किया है। इस समिति में कॉलेज के आस-पास के दो प्रबुद्ध नागरिकों को शामिल किया गया है। ये लोग सरकारी कॉलेज के विकास सम्बंधी सभी कार्यों को पूरा करने में मदद करेंगे। ये लोग भामाशाहों की मदद से भी सरकारी कॉलेजों में सुविधाओं में इजाफा कर सकेंगे। सुविधा पूर्ण होने से सरकारी कॉलेजों के प्रति अभिभावकों और विद्यार्थियों का रुझान होगा। इससे अभिभावकों पर आर्थिक बोझ की मार भी कम पड़ेगी। आर्थिक रूप से कमजोर प्रतिभावान विद्यार्थियों के लिए उच्च शिक्षा की राह भी आसान होगी। 

प्रत्येक सरकारी स्कूल की समिति में दो प्रबुद्ध नागरिक

राज्य सरकार ने जयपुर सहित प्रदेशभर के करीब 135 सरकारी कॉलेजों में 270 प्रबुद्ध नागरिकों को शामिल करते हुए विकास समिति का गठन किया है। ऐसे में प्रत्येक कॉलेज में दो लोगों की विकास समिति बनाई है। 

भारद्वाज की बदौलत कूलवाल को फिर मिला मौका

सांगानेर के कन्या कॉलेज में भी विकास समिति का गठन किया गया है। इसमें सांगानेर के घनश्याम कूलवाल और अशोक स्वामी को शामिल किया गया है। कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज की वजह से इन दोनों को यह तोहफा मिला है। घनश्याम कूलवाल वार्ड 90 से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि, वे चुनाव हार गए थे, ऐसे में पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने उन्हें फिर से कार्य करने का मौका दिया है।

खुली जेल वाली जगह बनवाएंगे कन्या कॉलेज की इमारत

जस्ट टुडे से बात करते हुए घनश्याम कूलवाल ने बताया कि सांगानेर में कन्या कॉलेज तो खुल चुका है, लेकिन, अभी यह सरकारी स्कूल की इमारत में चल रहा है। अब विकास समिति का यह प्रयास रहेगा कि खुली जेल को दूसरी जगह शिफ्ट कराकर वहां पर कन्या कॉलेज की नई इमारत बनवाई जाए। इसके लिए सरकारी सहित सभी वर्गों की मदद ली जाएगी। उन्होंने बताया कि पुष्पेन्द्र भारद्धाज के नेतृत्व में सांगानेर को सुख-सुविधापूर्ण बनाना ही हमारा लक्ष्य है। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार