कबाड़ से 160 करोड़ के सीईटीपी प्लांट का हो रहा कबाड़ा

- केन्द्र और राज्य सरकार की ओर से मुहाना रोड पर बनाया जा रहा है बेशकीमती प्लांट, कबाड़ माफियाओं ने खटारा गाडिय़ों से प्लांट के चारों ओर किया कब्जा

- सांगानेर रंगाई-छपाई एसोसिएशन के सचिव ने नगर-निगम और जनप्रतिनिधियों से की सीईटीपी प्लांट को अतिक्रमण मुक्त करने की अपील

 मुहाना मोड स्थित सीईटीपी प्लांट के मुख्य दरवाजे तक लगा हुआ गाडिय़ों का कबाड़।

जस्ट टुडे
जयपुर।
एक ओर जहां केन्द्र और राज्य सरकार की ओर से सांगानेर को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए 160 करोड़ का सीईटीपी प्लांट बनवाया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर खटारा गाडिय़ों के कबाड़ से इस बेशकीमती प्लांट को ही प्रदूषित किया जा रहा है। यह कबाड़ बेशकीमती प्लांट को दाग लगा रहा है। साथ ही आमजन को भी आवाजाही में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जानकारों का कहना है कि कई बार कबाड़ गोदाम के मालिक को कबाड़ हटाने को कह चुके हैं, लेकिन हालात जस के तस हैं। सांगानेर रंगाई-छपाई एसोशिएसन ने नगर-निगम और जनप्रतिनिधियों से मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है, जिससे बेशकीमती प्लांट को जीवनदान मिल सके। 

सीईटीपी प्लांट के चारों ओर गाड़ी माफियाओं का कब्जा



दरअसल, सांगानेर से मुहाना मण्डी जाने वाले रास्ते पर सड़क के दोनों तरफ बंद और पुरानी गाडिय़ों का कबाड़ पड़ा हुआ है। इससे पैदलयात्रियों के लिए सड़क पर चलने की जगह ही नहीं बची है। साथ ही दिनभर गाडिय़ों को ठोकने और काटने की आवाज से क्षेत्र में बड़े पैमाने पर ध्वनि प्रदूषण फैल रहा है। साथ ही गंदगी से वातावरण भी दूषित हो रहा है। गाड़ी माफियाओं ने इस कबाड़ के जरिए सड़क के दोनों ओर काफी दूर तक अतिक्रमण कर रखा है।
    इतना ही नहीं इन कबाड़ माफियाओं की ओर से कॉमन एफिलेंट ट्रीटमेंट प्लांट (सीईटीपी) सहित जीरो लिक्विड डिस्चार्ज (जेडएलडी) प्लांट के चारों ओर कब्जा किया जा चुका है। खास बात यह है कि इस प्लांट के मुख्य दरवाजे तक कबाड़ माफियाओं ने कब्जा कर लिया है। इससे इस प्लांट में जाने के लिए ही रास्ता नहीं बचा है। 

जाम और हादसे हुए आम

 इन कबाड़ माफियाओं ने सड़क के दोनों ओर पुरानी गाडिय़ों का अम्बार लगा रखा है, जिससे क्षेत्र में रोजाना जाम के हालात हो रहे हैं। इन गाडिय़ों के कबाड़ से रोजाना हादसे होना भी आम बात हो गई है। क्षेत्र के व्यापारियों और स्थानीय निवासियों ने इन कबाड़ माफियाओं की शिकायत कई बार प्रशासन से की, लेकिन, इनका आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है। 

अतिक्रमण मुक्त हो सीईटीपी प्लांट

सांगानेर में सीईटीपी प्लांट केन्द्र और राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। इस बेशकीमती प्लांट के चारों ओर गाड़ी माफियाओं ने कब्जा कर लिया है। मुख्य दरवाजे तक पुरानी गाडिय़ों का कबाड़ सजा दिया है। इससे प्लांट में आने-जाने की जगह ही नहीं बची है। साथ ही इस कबाड़ से प्लांट की खूबसूरती पर भी दाग लग रहा है। क्षेत्र के निवासियों को रोजाना जाम में फंसना पड़ रहा है। कबाड़ की वजह से वाहन चालक हादसों का शिकार हो रहे हैं। नगर-निगम और जनप्रतिनिधियों को इस मामले में जल्द से जल्द सकारात्मक पहल करनी चाहिए। - राजेन्द्र जिंदगर, सचिव, सांगानेर रंगाई-छपाई एसोसिएशन

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर बाजार में पटाखे की चिंगारी कहर बनकर टूटी