झुंझुनूं की विद्याविहार नगर पालिका में 79.69 फीसद मतदाताओं ने किया मतदान

- निकाय चुनाव-202

- नगर पालिका मुख्यालय पर 22 फरवरी को करवाई जाएगी मतगणना_

 जस्ट टुडे                                                               जयपुर। झुंझनूं जिले की विद्याविहार नगर पालिका में शनिवार को सदस्य पद के लिए हुए मतदान में 79.69 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। 22 फरवरी को सभी वार्डों की मतगणना नगर पालिका मुख्यालय पर करवाई जाएगी।

 


मुख्य चुनाव आयुक्त पीएस मेहरा ने बताया कि मतदान के साथ ही 107 उम्मीदवारों की की किस्मत ईवीएम मशीनों में बंद हो गई। उन्होंने बताया कि 25 वार्डों में 8772 मतदाताओं में से 6990 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। सभी मतदान केंद्रों पर सुबह से ही लंबी—लंबी कतारें देखी गई। मतदाताओं ने कोविड संबंधी सभी दिशा—निर्देशों की पालना करते हुए मतदान किया। उन्होंने 'सुरक्षित मतदान' के लिए सभी मतदाताओं, प्रशासनिक अधिकारियों और मीडिया के प्रति आभार जताया है।   

मतदाताओं में सुबह से ही था उत्साह

मेहरा ने बताया कि मतदान के प्रति मतदाताओं में सुबह से ही खासा उत्साह देखा गया। सुबह 10 बजे तक 22.74, दोपहर 1 बजे तक 53.36 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल कर लिया था। दोपहर 3 बजे तक मतदान का प्रतिशत 69.43 जा पहुंचा और शाम 5 बजे तक 79.64 फीसद मतदान दर्ज किया जा चुका था। मतदान समाप्ति पर कुल 79.69 प्रतिशत मतदान हुआ।  

अध्यक्ष के लिए चुनाव 1 मार्च को

 मेहरा ने बताया कि सदस्य पदों की मतगणना के बाद 23 फरवरी को अध्यक्ष के लिए लोक सूचना जारी होगी। नामांकन पत्र 24 फरवरी अपराह्न 3 बजे तक प्रस्तुत किए जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि नामांकन पत्रों की संवीक्षा की तिथि 25 फरवरी को होगी, जबकि 26 फरवरी को अपराह्न 3 बजे तक अभ्यर्थिता वापिस ली जा सकेगी। चुनाव चिन्हों का आवंटन नाम वापसी के तुरंत बाद 26 फरवरी को ही किया जाएगा। अध्यक्ष के लिए मतदान 1 मार्च को प्रातः 10 बजे से अपराह्न 2 बजे तक होगा, जबकि मतगणना मतदान समाप्ति के तुरन्त बाद होगी। उन्होंने बताया कि इसी तरह उपाध्यक्ष के लिए निर्वाचन 2 मार्च को होगा।

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार