अध्यक्ष ने वरिष्ठ उपाध्यक्ष को हटाने का चलाया मैसेज, संरक्षक ने कहा...मैसेज से कोई किसी को नहीं हटा सकता ?

- व्यापार महासंघ, सांगानेर में अंदरूनी फूट अब खुलकर आई सामने

- अध्यक्ष और वरिष्ठ उपाध्यक्ष ने एक-दूसरे के खिलाफ खोला मोर्चा

- आगामी दिनों में व्यापार महासंघ, सांगानेर की कार्यकारिणी की होगी बैठक, किसी को हटाने या शामिल करने का फैसला आम सहमति से होगा


जस्ट टुडे
जयपुर।
व्यापार महासंघ, सांगानेर में फिर व्हाट्स एप वॉर शुरू हो गया है। एक दिन पहले तक यह व्हाट्स एप वॉर अंदरूनी खींचतान को दर्शा रही थी। अब बुधवार को यह व्हाट्स एप वॉर खुलकर सामने आ गई है। यह व्हाट्स एप वॉर व्यापार महासंघ, सांगानेर के अध्यक्ष शिवराज सोनी और वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद बच्चानी के बीच चल रही है। अध्यक्ष शिवराज सोनी की ओर से वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद बच्चानी को मंगलवार रात पद से मुक्त करने की घोषणा के बाद व्यापार महासंघ, सांगानेर की यह फूट अब जगजाहिर हो गई है।

मंगलवार रात में वरिष्ठ उपाध्यक्ष को पदमुक्त करने का अध्यक्ष ने चलाया मैसेज



इससे पहले मंगलवार रात को व्यापार महासंघ, सांगानेर के अध्यक्ष शिवराज सोनी ने व्हाट्स एप पर एक मैसेज चलाया। अध्यक्ष शिवराज सोनी ने यह व्हाट्स एप मैसेज जस्ट टुडे को भी भेजा था। इसमें लिखा हुआ था कि व्यापार महासंघ, सांगानेर के संविधान में प्रदत्त अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए मैं शिवराज सोनी, अध्यक्ष, व्यापार महासंघ, सांगानेर यह निर्णय लेता हूं कि उत्तमचंद बच्चानी को व्यापार महासंघ, सांगानेर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद से पदमुक्त करता हूं। 


वरिष्ठ उपाध्यक्ष ने व्हाट्स एप मैसेज से अध्यक्ष से पूछा...आप कौन होते हो किसी को हटाने वाले?

इसके बाद वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद बच्चानी के बेटे और व्यापार महासंघ, सांगानेर में मीडिया प्रभारी पुरुषोत्तम बच्चानी ने भी व्हाट्स एप पर एक मैसेज चलाया। वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद बच्चानी ने व्हाट्स एप पर एक मैसेज जस्ट टुडे को भी भेजा। इसमें अध्यक्ष शिवराज सोनी को सम्बोधित करते हुए लिखा था कि आपको कार्यकारिणी के सदस्यों ने हस्ताक्षर करके दिनांक 30.12.2020 को लिखित त्याग-पत्र दिया था। उस समय आपने अपनी तथाकथित मजबूरी बताकर क्षमायाचना की और इस्तीफों को पेंडिंग में रखा। इसके बाद आपने अपना व्यक्तिगत द्वेष निकालकर एक ड्रामा करते हुए कार्यकारिणी से निष्कासित कर दिया। इस संदर्भ में सभी जागरूक लोगों को सबूत पेश कर रहे हैं। इस लैटर में अन्य कार्यकारिणी सदस्यों के हस्ताक्षर, मोबाइल नम्बर और तारीख भी अंकित है।

इस व्हाट्स एप मैसेज में अध्यक्ष शिवराज सोनी पर यह आरोप भी लगाया गया कि आप अपने हित साधने के लिए कार्यकारिणी के सदस्यों का इस्तेमाल करते हैं। अब सभी सतर्क हो गए हैं। अब यह नौटंकी जल्द ही खत्म और उजागर हो जाएगी। हालांकि, अध्यक्ष शिवराज सोनी किस तरह से कार्यकारिणी के सदस्यों का इस्तेमाल अपने हित साधने के लिए करते हैं, इसका खुलासा मैसेज में नहीं किया गया था। इसके बाद अध्यक्ष शिवराज सोनी केे लिए मैसेज में लिखा हुआ था कि कार्यकारिणी में किसी सदस्य को हटाने और जोडऩे का अधिकार सिर्फ और सिर्फ कार्यकारिणी और संयोजक के पास है। मैसेज में चेतावनी भरे लहजे में लिखा हुआ था कि आप कौन होते हो किसी को हटाने वाले? अब कुछ ही दिनों में सभी सदस्यों और संयोजक की सहमति से नई कार्यकारिणी का चुनाव कर लिया जाएगा। 


बिना कार्यकारिणी की सहमति से किसी को हटाना गलत: त्रिलोक चौधरी

इसके बाद जस्ट टुडे ने व्यापार महासंघ, सांगानेर के संरक्षक त्रिलोक चौधरी से इस संदर्भ में बात की। इस पर संरक्षक त्रिलोक चौधरी ने कहा कि व्हाट्स एप मैसेज चलाकर किसी भी पदाधिकारी को हटाना बिलकुल गलत है। किसी को हटाने या शामिल करने का फैसला कार्यकारिणी की बैठक में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हटाने की पावर तो अध्यक्ष के पास भी होती है, संरक्षक के पास भी होती है और कार्यकारिणी के पास भी होती है। लेकिन, इसका यह मतलब नहीं है कि व्हाट्स एप पर मैसेज चलाकर किसी को हटा दिया जाए। इस तरह का जो भी फैसला होता है, वह कार्यकारिणी की बैठक में होता है। इस संदर्भ में हम जल्द ही कार्यकारिणी की बैठक का आयोजन करेंगे। इसमें किसी को हटाने सहित जो भी फैसले लिए जाएंगे, सदस्यों की आम सहमति से ही लिए जाएंगे। इस बैठक में आपसी जो भी विवाद है, उसे भी सुलझा लिया जाएगा। जस्ट टुडे ने उनसे पूछा कि व्हाट्स एप पर जो वरिष्ठ उपाध्यक्ष को पद मुक्त करने की बात कही जा रही है, फिर उसे क्या माना जाए? तो उन्होंने कहा कि अभी किसी को हटाया नहीं है। रात में भूल-चूक से कोई मैसेज व्हाट्स एप पर चल गया होगा। उन्होंने कहा कि व्हाट्स एप पर मैसेज डालकर किसी को हटाया नहीं जा सकता है। 

व्यापार महासंघ, सांगानेर में ऐसे शुरू हुई वॉर 

मंगलवार को कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज सांगानेर बाजार में व्यापारियों से उनकी समस्याओं के संदर्भ में मिलने आए थे। तब व्यापार महासंघ, सांगानेर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद बच्चानी ने अपने व्यापार महासंघ के कई पदाधिकारियों और सांगानेर व्यापार महासंघ के पदाधिकारियों के साथ कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज का जोरदार स्वागत किया। साथ ही व्यापार महासंघ, सांगानेर की ओर से व्यापारियों की समस्याओं को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा। इस कार्यक्रम से अध्यक्ष शिवराज सोनी ने यह कहते हुए दूरी बनाई थी कि इसमें व्यापार महासंघ, सांगानेर का कोई लेना-देना नहीं है। साथ ही कांग्रेस नेता को जो ज्ञापन सौंपा गया है, उसमें मेरे हस्ताक्षर नहीं है। इस पर व्यापार महासंघ, सांगानेर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद बच्चानी ने कहा था कि अध्यक्ष शिवराज सोनी ने पहले कार्यक्रम कराने की स्वीकृति दे दी थी और लैटर हैड भी दे दिया था। बाद में वे अपनी बता से मुकर गए। इसी बात पर व्यापार महासंघ, सांगानेर में अध्यक्ष शिवराज सोनी और वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद बच्चानी आमने-सामने हो गए। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार