1287 प्रत्याशियों का भाग्य मतपेटियों में कैद

- 57.98 फीसदी जयपुर ग्रेटर में रहा मतदान


287 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 3 नवम्बर को 
3211 मतदान केंद्रों पर हुआ दूसरे चरण का मतदान 


जस्ट टुडे
जयपुर। नगर निगम जयपुर ग्रेटर में रविवार को दूसरे चरण में सांगानेर, बगरू, मालवीय नगर, विद्याधर नगर और झोटवाड़ा विधानसभा क्षेत्रों के 150 वार्डों के चुनाव शांतिपूर्वक सम्पन्न हो गए। तीन नवम्बर सुबह 9 बजे  मतगणना होगी। उसके बाद शहरी सरकार के सरताजों का पता चलेगा। 


कहां कितना मतदान



सांगानेर भाजपा विधायक अशोक लाहोटी परिवार संग वोट डालने पहुंचे।


राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक शाम 5:30 बजे तक रविवार को तीनों निकायों में 58.96 फीसदी मतदान हुआ। जयपुर ग्रेटर निगम में 57.98 प्रतिशत मतदान हुआ। वहीं जोधपुर दक्षिण में 57.88 और कोटा दक्षिण में 63.13 फीसदी मतदान हुआ। हालांकि, मतदान स्थल पर मतदाताओं की भीड़ थी। ऐसे में अंतिम मतदान के आंकड़े आना अभी शेष है। मतदान के अंतिम आंकड़े रात तक आने की संभावना है। तीनों निगमों में सबसे ज्यादा वार्ड जयपुर ग्रेटर में 150 हैं। ज्ञात हो कि प्रथम चरण में जयपुर हैरिटेज में 57.82, कोटा उत्तर में 65.12 और जोधपुर उत्तर में 62.64 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। 
 
310 वार्डों से 1287 उम्मीदवार थे मैदान में


चुनाव आयुक्त ने बताया कि जयपुर ग्रेटर के 150, जोधपुर दक्षिण के 80 और कोटा दक्षिण के 80 कुल 310 वार्डों के लिए मतदान शान्तिपूर्वक सम्पन्न हुआ। उन्होंने बताया कि जयपुर में 686, जोधपुर में 312 और कोटा में 289 और कुल 1287 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला रविवार को मतपेटियों में कैद हो गया। दूसरे चरण में 3211 मतदान केंद्रों पर मतदान करवाया गया। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान केंद्रों की संख्या में भी इजाफा किया गया है और मतदान समय को भी आधा घंटा अधिक बढ़ाया है ताकि मतदाता भीड़ का हिस्सा बने बिना अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकें।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार