हैरिटेज की सरकार चुन रहे मतदाता

नगर निगम चुनाव-2020 : राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव और मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने किया शहर के मतदान केंद्रों का निरीक्षण 


- कोविड के दिशा-निर्देशों के साथ मतदान कराने के लिए स्थानीय प्रशासन की प्रशंसा की 


जस्ट टुडे
जयपुर। राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव और मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्यामसिंह राजपुरोहित ने नगर निगमों के पहले चरण में हो रहे मतदान में जयपुर शहर के कई मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया और चुनाव के दौरान कोविड संक्रमण से बचाव के लिए की जा रही व्यवस्थाओं का जायजा लिया।



राजपुरोहित ने सी-स्कीम, बगडिया भवन के समीप और सिंचाई विभाग स्थित कई मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर कोविड से बचाव संबंधी प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन किया गया। लगभग सभी मतदान केंद्रों पर मतदाता मास्क लगाकर और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अपने मताधिकार का इस्तेमाल करते नजर आए, जो भूल भी गए उन्हें नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा मास्क दिए गए। उन्होंने बताया कि कोविड संक्रमण के बचाव के साथ मतदान के लिए आयोग ने मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या में कमी की, इसी के चलते मतदान केंद्रों पर ज्यादा भीड़भाड़ का माहौल देखने में नहीं आया।


दोपहर बाद निकले मतदाता
 
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदान के प्रतिशत में सुबह जरूर थोड़ी कमी देखी गई लेकिन दोपहर तक लोग घरों से बाहर आने लगे और मतदान किया। उन्होंने कहा कि आयोग तीनों जिलों के जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस अधिकारी और पर्यवेक्षकों के सीधे संपर्क में है। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षित और शांतिपूर्ण मतदान कराया जा रहा है। 

इनका रखें ध्यान



सचिव ने कहा कि तीनों शहरों में मतदान निर्बाध, व्यवस्थित और शांतिपूर्ण चल रहा है, ऐसे में मतदाता कोविड के प्रोटोकॉल की पालना के साथ ही मतदान के लिए निकलें। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र में जाने से पहले हाथों को सेनेटाइज करें और मतदान के समय पंक्ति में खड़े रहने के दौरान चिन्हित गोलों पर खड़े रहकर या सामाजिक दूरी बनाते हुए अपनी बारी का इंतजार करें। उन्होंने कहा कि मतदान के लिए प्रत्येक मतदाता भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्वाचक फोटो पहचान पत्र अपने साथ जरूर लाएं। इनके अभाव में 11 अन्य वैकल्पिक दस्तावेजों में से किसी एक को दिखाकर भी मतदाता अपना वोट डाल सकते हैं।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार