कलियुग में आया त्रेतायुग

- मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन का पावन अवसर हम सभी राम भक्तों के लिए गौरव का क्षण : डॉ. सतीश पूनियां


- भगवान श्रीराम मन्दिर निर्माण के लिए 500 वर्षों का लम्बा संघर्ष है: गुलाबचंद कटारिया



जस्ट टुडे
जयपुर। अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के भव्य मन्दिर निर्माण के भूमिपूजन का शुभारम्भ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपालदास, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत, उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, देशभर के 36 परम्पराओं के करीब 140 प्रमुख संतों एवं धर्म गुरुओं की मौजूदगी में किया। इस कार्यक्रम को देशभर में करोड़ों लोगों ने वर्चुअल, सोशल मीडिया, मीडिया के माध्यम से देखा।


भाजपा कार्यालय पर मना उत्सव



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन का श्रीगणेश करने के उपलक्ष्य में भाजपा प्रदेश कार्यालय में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, प्रदेश संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने भगवान श्रीराम के चित्र पर दीप प्रज्जवलन किया। इस दौरान भजन कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें भगवान श्रीराम, माता जानकी के भजनों की प्रस्तुति की गई। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा अयोध्या में किए गए श्रीराम मन्दिर निर्माण के भूमि पूजन कार्यक्रम को भाजपा प्रदेश कार्यालय में बड़ी स्क्रीन पर वर्चुअल माध्यम से जुड़कर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने देखा।


रामभक्तों के लिए ऐतिहासिक पल



भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि 'रामराज बैठे त्रिलोका, हर्षित भये गए सब सोका' बुधवार को अद्भुत एवं अलौकिक घड़ी में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के भव्य मन्दिर के निर्माण का शुभारम्भ माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कर कमलों द्वारा हुआ। यह ऐतिहासिक एवं पावन अवसर हम सभी राम भक्तों के लिए गौरव का क्षण है। 


मंदिर शिलान्यास का साक्षी बना विश्व



उन्होंने कहा कि लगभग 500 वर्षों का संघर्ष, लाखों लोगों की आहुतियां एवं उन आहुतियों पर खड़ा हुआ भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर निश्चित रूप से भारत को विश्व शक्ति बनने की दिशा में अहम कदम साबित होगा। 
डॉ. पूनियां ने कहा कि श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए मोदी और योगी की जोड़ी ने न्यायालय के निर्णय को शिरोधार्य रखते हुए जिस तरीके का पराक्रम एवं परिश्रम किया है, वह वास्तव में अभिनंदनीय है। आज भगवान श्रीराम के उस भव्य मंदिर के शिलान्यास का पूरा विश्व साक्षी रहा। इस ऐतिहासिक एवं पावन अवसर पर सभी राम भक्तों को शुभकामनाएं, राम हम सबमें हैं, राम कण-कण में हैं।

संघर्ष को सफल बनाने वालों को नमन



नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भगवान श्रीराम के मन्दिर के निर्माण के लिए 500 वर्षों का संघर्ष है, यह संघर्ष वास्तव में इस बात को बताता है कि जिस आदर्श को आप साबित करने के लिए मन का संकल्प करते हो और संघर्षशील रहते हो, कोई ना कोई अदृश्य शक्ति उसको साक्षात् रूप में परिणित करती है। उन्होंने कहा कि मैं सोचता हूं कि आज से कुछ वर्षों पहले हमको भी यह लगता था कि अपनी जिंदगी में श्रीराम मन्दिर को देख भी पाएंगे या नहीं? कार सेवा में तो हम जरूर गए थे, सब कुछ देखा था, यह विश्वास नहीं था कि इन आंखों से राम मन्दिर को देख पाएंगे या नहीं? आज मंदिर का भूमिपूजन देखा है, अगर भगवान ने जिंदा रखा तो भव्य मंदिर के दर्शन करके अपने आपको भी राम के आदर्शों पर चलने के लिए प्रयत्न करेंगे। मेरी तरफ से वास्तव में उन सब लोगों को नमन, जिन्होंने राम जन्मभूमि के इस संघर्ष को अन्तिम पायदान तक पहुंचाया और हिन्दुस्तान के सुप्रीम कोर्ट को, उनके जजों को भी बहुत-बहुत प्रणाम कि उन्होंने निरंतर करके सच को सच साबित करने का प्रयास किया और दुनिया में उदाहरण पेश किया है कि वास्तव में हिन्दुस्तान का न्यायालय इस तरीके से फैसला करता है, जिसे सभी पक्ष सहर्ष स्वीकार करते हैं। 


मंदिर देश में सद्भाव का लिखेगा इतिहास



इस अवसर पर उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि उन हजारों लोगों को नमन, जिन्होंने सपना मन में संजोया था, लम्बे संघर्ष के बाद आज का वो सुखद दिन आया है। भगवान श्रीराम हमारी संस्कृति के प्रतीक हैं, हमारी सामाजिक मान्यताओं, परम्पराओं में आज भी उन द्वारा स्थापित मर्यादाओं को आत्मसात् करते हैं। आज पूरे विश्व में भगवान राम को मानने वाले उनके अनुयायी एवं भक्त उल्लासित हैं कि वो क्षण आ गया है कि जब भगवान राम के भव्य मन्दिर निर्माण का श्रीगणेश हुआ। राठौड़ ने कहा कि भगवान राम जिनका हर प्रसंग चाहे आदर्श भाई के रूप में हो, आदर्श पति के रूप में हो, आदर्श सखा के रूप में हो, मर्यादाओं के रूप में उनका जीवन हमें संदेश देता है। यह मन्दिर भारत के अंदर सांस्कृतिक सद्भाव के एक नए इतिहास की रचना करेगा।


रंगोली से बनाई मंदिर प्रतिकृति 


भाजपा प्रदेश कार्यालय में बुधवार शाम को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, प्रदेश महामंत्री (संगठन) चन्द्रशेखर, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ एवं पार्टी कार्यकर्ताओं ने राम मन्दिर निर्माण के दिव्य शुभारम्भ होने के उपलक्ष्य में दीप प्रज्वलित किए। इस अवसर पर जयपुर महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने भाजपा प्रदेश कार्यालय में रंगोली से भगवान श्रीराम मंदिर प्रतिकृति दर्शाई एवं दीप जलाए। साथ ही जय श्रीराम के नारों के गूंज के साथ भव्य आतिशबाजी भी की गई। इस अवसर पर महिला मोर्चा प्रदेश महामंत्री मंजू शर्मा, जयपुर शहर अध्यक्ष कविता मलिक, अरूणा टांक सहित तमाम महिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार