नाग देवता की पूजा कर खाए ठंडे पकवान

- सिंधी समाज की महिलाओं ने धूमधाम से मनाया गोगलवीर गोगडो (नागपंचमी) का त्योहार


जस्ट टुडे
जयपुर। भगवान झूलेलाल मन्दिर सिंधी कॉलोनी, राजापार्क में चेतवानी परिवार ने गोगलवीर गोगडो (नागपंचमी) का त्योहार हर्षोल्लास पूर्वक मनाया। स्थानीय निवासी नेहा चेतवानी ने बताया कि इस त्योहार से एक दिन पहले सिन्धी समाज की महिलाएंं घरो में मीठी मानी बनाती है। 


मीठी मानी और मिश्री का लगाते हैं भोग



गोगडो गोगलवीर (नागपंचमी)के दिन गाय माता के गोबर से नाग देवता बनाकर लौंग से उनकी आंख और इलायची से मुंह बनाया जाता है। इसके बाद नाग देवता का दुग्ध अभिषेक किया जाता है और नए वस्त्र पहनाकर विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है। इसके बाद मीठी मानी, पानी वाले नारियल और मिश्री का भोग लगाकर सिन्धी समाज की महिलाएं नाग देवता से परिवार के कुशल मंगल की कामना करती हैं। पूजा के बाद सभी सिन्धी समाज के लोग नागपंचमी के दिन मीठी मानी एवं ठण्डे व्यंजनों खाते हैं। 


देश में हर जगह मनाया जाता है त्योहार 


इस अवसर पर ममता चेतवानी  मोनिका चेतवानी, सपना, पूनम, लीला देवी सहित कई महिलाओं ने नाग देवता की पूजा में बढ़-चढ़कर  हिस्सा लिया। भारत के सम्पूर्ण सिन्धी समाज में यह त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाता है। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर बाजार में पटाखे की चिंगारी कहर बनकर टूटी