कोरोना से लड़ने की तैयारी, 180 से अधिक कार्मिक बनेंगे मास्टर ट्रेनर्स

- प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने कार्यालयों में देंगे कोरोना से बचाव के उपायों की जानकारी


जस्ट टुडे
जयपुर। अब जिला प्रशासन ने कोरोना के प्रति जागरूक करने के लिए योजना बनाई है। इसके तहत जयपुर जिले में 36 से अधिक विभागों के करीब 180 कार्मिकों को कोरोना से बचाव के उपायों एवं सावधानियों के बारे में प्रशिक्षण देकर मास्टर ट्रेनर्स के रूप में तैयार किया जाएगा। ये सभी मास्टर ट्रेनर्स अपने-अपने विभागोें और कार्यालयों में अन्य कार्मिकों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रशिक्षण प्रदान करेंगे।


जिला कलक्टर अंतर सिंह नेहरा ने बताया कि यह प्रशिक्षण सत्र कोरोना से बचाव के लिए प्रदे एवं जिले में किए गए प्रयासों एवं उपायोें के प्रदर्शित करती जिला स्तरीय जन जागरूकता प्रदर्शनी स्थल पर 13 जुलाई से दो पारियों में प्रारम्भ होंगे। जयपुर में यह प्रदर्शनी 1 जुलाई से राजकीय महारानी बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, बनीपार्क में प्रारम्भ हुई है, जो 31 जुलाई तक जारी रहेगी।


इन विभागों के कार्मिक बनेंगे मास्टर ट्रेनर्स


 नगर निगम, जयपुर विकास प्राधिकरण, जिला परिषद्, पीडब्ल्यूडी, पीएचईडी,  जेवीवीएनएल, सीएमएचओ कार्यालय प्रथम एवं द्वितीय, काॅलेज शिक्षा, पर्यटन, वन, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, कृषि एवं उद्यान, पशुपालन, श्रम, महिला अधिकारिता, महिला एवं बाल विकास, एनएचएआई, सहकारिता, सिंचाई, खनन, नागरिक सुरक्षा, वाणिज्यिक कर विभाग, रोजगार विभाग, जयपुर डेयरी, मत्स्य विभाग, प्रदूषण नियंत्रण मण्डल, भू संरक्षण विभाग, स्थानीय निकाय विभाग, उद्योग, शिक्षा, आईटीआई, रीको जैसे करीब तीन दर्जन विभागों के कार्मिकों और अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर्स का प्रशिक्षण दिया जाएगा। 


हर विभाग से 5 कार्मिक


बताया जा रहा है कि हर विभाग को प्रशिक्षण हेतु 5-5 कार्मिकों को नामित करने के निर्देश दिए गए हैं। प्रशिक्षण का प्रथम सत्र प्रातः 10 से 11 बजे तक और द्वितीय सत्र दोपहर 12 से 1 बजे तक होगा। प्रशिक्षण एसएमएस अस्पताल की स्किल लैब के इंचार्ज राजकुमार राजपाल और राधेलाल शर्मा देंगे।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार