जयपुर के नए कलक्टर नेहरा ने संभाला कार्यभार

- कहा,  त्वरित, पारदर्शी तरीके से कार्य कर आमजन  को राहत देना प्राथमिकता



जस्ट टुडे

जयपुर। जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने सोमवार को जयपुर जिला कलेक्ट्रेट में जिला प्रशासन का पदभार संभाल लिया। 
 नेहरा ने इस मौके पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में आम नागरिको की समस्याओं के त्वरित समाधान एवम उनके कार्यों को पूरी पारदर्शिता से पूरा करना ही उनकी प्राथमिकता है।
कोरोना के संबंध में राज्य सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग के दिशा निर्देशों की पालना पर भी उनका जोर रहेगा। उन्होंने कहा कि कोविड विशेष जन जागरूकता अभियान एवम सभी के सामूहिक प्रयासों से आज इस महामारी को लेकर आम लोग भी पहले से अधिक जानकारी रखते हैं। अभियान के संदेश बहुत ही सरल एवम अत्यावश्यक हैं । 


बूंदी में कार्य का मिलेगा फायदा


उन्होंने कहा, बूंदी में कोरोना नियंत्रण के अनुभव से भी जयपुर जिले में कार्य करने में सहायता मिलेगी। हालांकि  जयपुर की स्थिति, क्षेत्रफल, विस्तार, जन घनत्व के कारण  यहां काम करने में अलग तरह की चुनोतियाँ हैं।  उन्होंने कहा कि जयपुर में विकास की गति को बनाए रखने में नगर निगम, जेडीए जैसे स्थापित निकायों, उनके स्वयं के पिछले 30 वर्ष के फील्ड अनुभव से भी उन्हें सहायता मिलेगी।

मुकाबला करने का किया आह्वान

उन्होंने कहा कि उनका पूरा प्रयास रहेगा कि राज्य सरकार की जनंकल्याकारी योजनाओं का लाभ समयबद्ध रूप से लक्षित वर्ग एवम व्यक्ति तक पहुंचे। नेहरा ने जिला कलेक्ट्रेट सभागार में कलेक्ट्रेट कर्मचारी यूनियन की ओर से रखे गए उनके स्वागत कार्यक्रम में सभी कर्मचारियों से को संबोधित करते हुए कहा कि जयपुर जिले में कोरोना नियंत्रण के लिए गए कार्यो में कर्मचारियों का पूरा सहयोग रहा है। उन्होंने आने वाली चुनोतियों से मुकाबले के लिए भी इसी तरह कार्य करने का आह्वान किया।

सहयोग के लिए दिया धन्यवाद

निवर्तमान जिला कलेक्टर  जोगाराम ने भी सभी कर्मचारियों को सहयोग के लिए धन्यवाद देते हुए जिले में कोरोना से बचाव एवम अन्य कार्यों की गति पूर्व की भांति बनाये रखने की आशा व्यक्त की।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार