अमर्यादित भाषा से मुख्यमंत्री पद की गरिमा तार-तार : डाॅ. पूनियां

- सरकार को ढूंढ रही है जनता, होटल में कैरम, फुटबाॅल खेलकर और फिल्में देखकर की जा रही मौज मस्ती: भाजपा प्रदेशाध्यक्ष


जस्ट टुडे
जयपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने भाजपा प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों ने बातचीत में कहा कि प्रदेश के पाॅलिटिकल थियेटर ड्रामा में सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का प्रवचन सुना तो अफसोस हुआ। उन्होंने कहा कि जिस तरीके की भाषा का इस्तेमाल आज किया गया, उससे मुख्यमंत्री पद की गरिमा तार-तार हुई है। डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि राजस्थान के इस पाॅलिटिकल ड्रामे में नायक और खलनायक कांग्रेस है, लेकिन तोहमत भाजपा पर लगाते हैं। 


डाॅ. पूनियां ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का प्रदेशाध्यक्ष अपनी पार्टी छोड़ता है तो इसमें भाजपा का हाथ कैसे हो सकता है, यह कांग्रेस पार्टी का अंदरूनी झगड़ा है जो अब प्रदेश के सामने आ चुका है, मुख्यमंत्री के अहंकार के कारण प्रदेश में कांग्रेस का बिखराब हुआ है। 

कितने दिन बाड़े में बंद रहेंगे

उन्होंने कहा कि सरकार, मंत्री और विधायक कितने दिन तक बाड़े में बंद रहेंगे, प्रदेश की जनता उन्हें ढूंढ रही है, जनता के काम नहीं हो रहे हैं, इसको लेकर मुख्यमंत्री जवाब दें। कोरोना के आंकड़े प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे हैं, आमजन परेशान हैं तो वहीं सरकार, उनके मंत्री एवं विधायक होटल में कैरम, फुटबाॅल खेल रहे हैं, मुगल-ए-आजम, शोले जैसी फिल्में देखी जा रही हैं, और सोनिया गांधी को खुश करने के लिए इटालियन डिश भी बनाई जा रही है। 


500 से ज्यादा मौतें

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर बढ़ती जा रही है, 500 से ज्यादा मौतें हो चुकीहै, बिजली की दरें बढ़ाने से लोग परेशान हैं और तीन महीने के बिजली बिल माफी पर सरकार का कोई ध्यान नहीं है, प्रदेश के जनहित के मुद्दों का समाधान निकालने पर सरकार का कोई ध्यान नहीं है, सिर्फ होटल में कैद होकर मौज मस्ती की जा रही है।

दाल में कुछ काला

राज्य सरकार द्वारा सीबीआई जांच को लेकर जारी किये गये नोटिफिकेशन पर डाॅ. पूनियां ने कहा कि पहले विशेष मामलों की राज्य सरकार की अनुमति के बिना भी सीबीआई सीधे तौर पर भी जांच कर सकती थी, लेकिन  राज्य सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर अब सभी मामलों में राज्य सरकार की अनुमति जरूरी कर दी है, इससे साफ है कि दाल में कुछ काला, मुख्यमंत्री ने कुछ छिपाने के लिये ऐसा फैसला लिया है।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार