सांगानेर मण्डी में बिक रही तरकारी या बंट रही महामारी

जस्ट टुडे की ग्राउण्ड रिपोर्ट


- सांगानेर में घनी आबादी में स्थित है सब्जी मंडी, ज्यादातर विक्रेताओं ने नहीं कराई कोविड-19 जांच 

- सांगानेर सहित पूरे जयपुर में सैकड़ों फल-सब्जी विक्रेता मिल चुके हैं पॉजिटिव, फिर भी प्रशासन ने दे दी छूट 

- सांगानेर व्यापार महासंघ भी जनहित में आया आगे, कहा- कोरोना जांच के बाद ही बिके सब्जी 



मण्डी में बिना मास्क बैठे सब्जी विक्रेता। 


मण्डी में बिना मास्क बैठे सब्जी विक्रेता। 

जस्ट टुडे

जयपुर। सांगानेर में घनी आबादी के बीचों-बीच स्थित सब्जी मण्डी कोरोना महामारी के इस दौर में लोगों की सेहत पर 'महंगी' साबित हो रही है। सांगानेर सहित पूरे जयपुर में सैकड़ों फल-सब्जी विक्रेता कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। ऐसे में सांगानेर में सब्जी मंडी कोरोना फैलाने का 'सुपर सेंटर' बन जाए तो कोई आश्चर्य नहीं होगा। चिंताजनक बात यह है कि सब्जी मण्डी के पास ही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भी है। जहां पर मरीज इलाज कराने आते हैं, लेकिन, अब उन्हें गिफ्ट में और बीमारी मिलने की आशंका बनी हुई है। इस सब्जी मण्डी को फिर से खोलने का आदेश देकर प्रशासन ने लोगों की जिन्दगी के साथ खिलवाड़ किया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि सब्जी मण्डी में करीब 120 विक्रेता हैं। लेकिन, इनमें से किसी का भी कोरोना टेस्ट नहीं हुआ है। उसके बाद भी इन्हें सब्जी बेचने की छूट दे दी है। स्थानीय लोगों का कहना है कि यदि सब्जी मण्डी की वजह से सांगानेर में कोरोना पॉजिटिव बढ़ गए तो उसका जिम्मेदार कौन होगा? यानी सांगानेर में तरकारी लोगों के लिए महामारी का सबब बन सकती है। 


लगे थे कचरे के ढेर, कोरोना हिदायतों की अवहेलना



मण्डी में जगह-जगह कचरे के ढेर। बीमारी फैलने का अंदेशा।

जस्ट टुडे संवाददाता
ने गुरुवार को सांगानेर सब्जी मण्डी के हालात जाने। मण्डी में करीब 25-30 फल-सब्जी विक्रेता बैठे हुए थे। इनमें दो-चार लोगों ने ही मास्क लगा रखा था। शेष ने मास्क नहीं लगा रखा था। जस्ट टुडे संवाददाता ने जैसे ही फोटो खींचने शुरू किए तो सभी जल्दी से मुंह ढंकने लग गए। सब्जी मण्डी में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना भी नगण्य दिखी। कचरा पात्र नहीं होने से जगह-जगह खराब सब्जियों का ढेर लगा था। दुकानदारों ने सड़क तक सामान बिखेर रखा था।


जस्ट टुडे संवाददाता ने सब्जी विक्रेता मदनलाल खटीक से बात की। मदनलाल ने बताया कि कोरोना के डर के चलते ग्राहक बहुत कम आ रहे हैं। ऐसे में सभी दुकानदार रोजाना दुकान नहीं खोल रहे हैं। सब्जी मण्डी में करीब 125 फल-सब्जी विक्रेता हैं। कोविड-19 जांच के सवाल पर कहा कि मैंने तो जांच करा रखी है। कई विक्रेताओं ने भी करा रखी है, लेकिन, ज्यादातर ने अभी तक जांच नहीं कराई है। सब्जियों का कचरा फैले होने की बात पर उसने कहा कि सब अपनी मर्जी के मालिक हैं। 


हमने दिए थे यह सुझाव, विक्रेताओं ने नहीं माने



इस बारे में सांगानेर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष शंकर आंकड़ ने बताया कि सब्जी मण्डी खुलने से किसी को कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन, सब्जी मण्डी में कोरोना महामारी के इस दौर में हिदायतों का पालन तो हो। उन्होंने कहा कि सांगानेर व्यापार महासंघ ने सब्जी मण्डी में फल-सब्जी विक्रेताओं से बात की थी। हमने उनसे कहा कि आधे लोग एक दिन सब्जी बेचो और आधे लोग अगले दिन। सड़ी-गली सब्जियों और कचरे को कचरा-पात्र में ही डालो। साथ ही सभी की कोरोना जांच कराओ। उन्होंने कहा कि कोरोना जांच का नाम सुनकर उन्होंने हमसे बात करना बंद कर दिया और सब्जी मण्डी खोल ली। आंकड़ ने कहा कि जो कोरोना जांच करवाता है, प्रशासन उसी को सब्जी बेचने की अनुमति दे तो उचित रहेगा। उन्होंने बताया कि ऐसा नहीं हो कि जांच कोई और करवाए, सब्जी कोई और बेचे। ऐसे में प्रशासन उन्हीं लोगों को सब्जी बेचने का डाक्यूमेंट दे, जिसकी जांच हुई है। उन्होंने कहा कि इससे ना तो बीमारी फैलने का खतरा रहेगा और ना ही किसी का काम-धंधा रुकेगा। उन्होंने कहा कि यदि प्रशासन चाहे तो पहचान-पत्र जैसे किसी डाक्यूमेंट का खर्चा सांगानेर व्यापार महासंघ उठाने को तैयार है। आंकड़ ने कहा कि उन्होंने फल-सब्जी विक्रेताओं की कोविड-19 जांच करने का आग्रह ब्लॉक सीएमओ सांगानेर धनेश्वर शर्मा से किया है। उन्होंने जल्द से जल्द जांच करवाने का आश्वासन दिया है।


सीएचसी प्रभारी भी लिख चुके हैं शिफ्ट करने का पत्र

सांगानेर सीएचसी प्रभारी डॉ. देश दीपक अरोड़ा ने बताया कि सांगानेर सब्जी मण्डी को शिफ्ट करने के लिए मैं सांगानेर एसडीएम घनश्याम शर्मा और डीसीपी ईस्ट राहुल जैन को पत्र लिख चुका हूँ। पत्र में लिखा था कि कोरोना महामारी के दौरान सब्जी मण्डी से संक्रमण फैलने का अंदेशा है। इसलिए सांगानेर सब्जी मण्डी को अन्यत्र शिफ्ट किया जाए।  


मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं


लॉकडाउन के समय करीब दो महीने पहले सांगानेर सीएचसी प्रभारी ने मुझे सब्जी मण्डी शिफ्ट कराने को पत्र लिखा था। लेकिन, सब्जी मण्डी को शिफ्ट कराना मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं है। नगर-निगम या जेडीए को पत्र लिखा जाए तो ज्यादा उचित होगा। - घनश्याम शर्मा, एसडीएम, सांगानेर


 


जल्द करवा देंगे जांच 


सांगानेर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष का फोन आया था। उन्होंने सब्जी मण्डी में फल-सब्जी विक्रेताओं की कोविड-19 टेस्ट कराने को कहा था। एक-दो दिन में सभी की जांच कराने की व्यवस्था की जाएगी।
- डॉ. धनेश्वर शर्मा, ब्लॉक सीएमओ, सांगानेर



जस्ट टुडे ने उठाई थी जनता की आवाज


जस्ट टुडे ने जनहित में सांगानेर सब्जी मण्डी शिफ्ट करने और यहां पर सैटेलाइट अस्पताल बनाने की घोषणा की थी। जस्ट टुडे की खबर के बाद स्थानीय नागरिक भी लामबंद हुए। उन्होंने कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज को ज्ञापन देकर सब्जी मण्डी शिफ्ट कराने की मांग की थी। कांग्रेस नेता ने जल्द से जल्द कार्य कराने का आश्वासन भी दिया था। 


जस्ट टुडे की दोनों खबरें पढऩे के लिए ब्लू लिंक पर क्लिक करें- 

सांगानेर सब्जी मण्डी हो शिफ्ट तो मिले सैटेलाइट गिफ्ट

https://justtoday.page/article/saangaaner-sabjee-mandee-ho-shipht-to-mile-saitelait-gipht/25u-w8.html

सांगानेर सब्जी मण्डी हो शिफ्ट, जनता ने कांग्रेस नेता को सौंपा ज्ञापन
https://justtoday.page/article/saangaaner-sabjee-mandee-ho-shipht-janata-ne-kaangres-neta-ko-saumpa-gyaapan-/BbPBml.html 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार