सांगानेर बाजार में फिर 'आम' हुआ 'जाम'

- लॉकडाउन में ढील मिलते ही सांगानेर बाजार में लगा वाहनों का रेला

- पार्किंग का अभाव होने और सड़क छोटी होने से लग रहा जाम

- लोगों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करना हुआ मुश्किल


जस्ट टुडे
जयपुर। लॉकडाउन के बाद सांगानेर मुख्य बाजार फिर से गुलजार हो गया है। हालांकि, तेज गर्मी और कोरोना के खौफ के चलते ग्राहकों की आवाजाही उतनी नहीं है। लेकिन, ढील मिलते ही सांगानेर बाजार में वाहनों का रेला फिर से मेला लगाने लगा है। चूंकि, सांगानेर बाजार से कई जगह के रास्ते मिलते हैं, ऐसे में आस-पास के निवासी यहां से होकर गुजरते हैं। लॉकडाउन के चलते यह भीड़ बंद हो गई थी। लेकिन, अब आवाजाही शुरू होने से यहां पर पहले की तरह जाम लगना फिर शुरू हो गया है। एक जून को राज्य सरकार ने ढील दी थी, एक दिन बाद यानी मंगलवार को सांगानेर बाजार में फिर जाम के हालात होने लग गए हैं।


नहीं है पार्किंग की व्यवस्था




कस्बा सहित आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में सांगानेर मुख्य बाजार ही सबसे बड़ा है। यहां पर ग्राहकों को आवश्यक सारी वस्तुएं मिल जाती हैं। ऐसे में यहां पर ग्राहकों और स्थानीय निवासियों की आवाजाही लगी रहती है। लेकिन, काफी संख्या में आवाजाही होने के बाद भी यहां पर अदद पार्किंग का अभाव है। ऐसे में ग्राहक मजबूरीवश दुकानों के आगे दो-तीन लेन में वाहनों को खड़ा करते हैं। साथ ही दुकानदार भी अपने सामान को बाहर सड़क तक लगा लेते हैं। हालांकि, अभी प्रशासन की सख्ती के चलते दुकानदार बाहर सड़क पर सामान नहीं लगा रहे हैं। लेकिन, यह व्यवस्था कब तक रहती है, यह गौर करने वाली बात है। लॉकडाउन के पहले तक ज्यादातर दुकानदार सड़क पर भी अपना सामान लगाते थे। उसके बाद वाहनों की पार्किंग से सड़क पूरी कवर हो जाती थी। ऐसे में सांगानेर बाजार में जाम लगना आम हो गया था। एक जून से ढील देने के बाद अब आवाजाही फिर शुरू हो गई है, ऐसे में एक ही दिन में फिर सांगानेर बाजार में जाम लगना शुरू हो गया है।


पुलिस की मुस्तैदी से हटा जाम



सांगानेर बाजार में रविवार और अवकाश के दिन जाम के हालात रहते हैं। लेकिन, मंगलवार को भी अनाज मंडी रोड पर करीब 10-15 मिनट के लिए जाम लग गया। हालांकि, पुलिसकर्मियों की मुस्तैदी के चलते जाम को हटवा दिया गया। जानकारों का कहना है कि चौपहिया वाहनों के आपस में फंसने से जाम लग गया था। 


महामारी फैलने की बढ़ी आशंका


बाजार में लॉकडाउन के पहले 30-30 मिनट जाम लग जाता था। हालांकि, अभी इतना देर तो जाम नहीं लग रहा है, लेकिन फिर भी 10-15 मिनट जाम तो लग रहा है। चूंकि, कोरोना महामारी के चलते अभी सोशल डिस्टेंसिंग की पालना अहम है। लेकिन, जाम लगने से आगे निकलने की होड़ में वाहन चालक एक-दूसरे के बिलकुल सट जाते हैं, ऐसे में महामारी फैलने की आशंका ज्यादा हो जाती है। 


निगम का रहा है टालमटोल रवैया


व्यापार महासंघ की ओर से हमने कई बार लिखित में नगर-निगम को पेड पार्किंग की व्यवस्था करने का आग्रह किया है। लेकिन, नगर-निगम का रवैया अभी तक टालमटोल का ही रहा है। पेड पार्किंग बनने से जहां जाम से राहत मिलेगी, वहीं वाहनों की सुरक्षा भी पुख्ता हो जाएगी। - शिवराज सोनी, अध्यक्ष, व्यापार महासंघ सांगानेर

सुनवाई नहीं कर रहा नगर-निगम


सांगानेर बाजार में पार्किंग नहीं है, इसके लिए नगर-निगम जिम्मेदार है। लॉकडाउन से पहले व्यापार महासंघ, सांगानेर की ओर से कई बार नगर-निगम को इस समस्या के बारे में इंगित कराया जा चुका है। हमने नगर-निगम से पेड पार्किंग शुरू करने का आग्रह किया था। लेकिन, अभी तक इस बारे में नगर-निगम की ओर से सकारात्मक रुख नहीं आया। जाम लगने से कोरोना महामारी फैलने की आशंका बढ़ रही है। - त्रिलोक चौधरी, संरक्षक, व्यापार महासंघ, सांगानेर


 


 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार