मोदी सरकार में राजनीति नहीं, राष्ट्रनीति को प्राथमिकता : ईरानी

जस्ट टुडे सबसे तेज


- भाजपा राजस्थान की सम्पन्न हुई वर्चुअल जनसंवाद रैली, करीब 10 लाख लोग जुड़े रैली से
- केन्द्रीय मंत्री ईरानी ने कांग्रेस पर साधा निशाना, मोदी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया
- केन्द्रीय मंत्री सहित संगठन के पदाधिकारी भी रहे मौजूद
- सांगानेर में विधायक और मंडल अध्यक्ष सहित कार्यकर्ताओं ने सुना वक्तव्य


जस्ट टुडे
जयपुर। भारतीय जनता पार्टी, राजस्थान ने डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए संवाद की नई कड़ी प्रारम्भ की है, जिसके तहत आज 'राजस्थान जनसंवाद रैली' को केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सम्बोधित किया। 
'वर्चुअल जनसंवाद रैली' को दिल्ली से सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय कपड़ा तथा महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने राजनीति नहीं राष्ट्रनीति को प्राथमिकता दी है। देश आश्वस्त है कि उनके प्रधानमंत्री 24 घण्टे देश की सेवा करते हैं। वैश्विक महामारी से आज पूरा देश जूझ रहा है। ऐसे में सभी के प्रति सहानुभूति व्यक्त करती हूं। कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मजबूत एवं कुशल नेतृत्व में देशभर में जो राहत कार्य हुए उनकी प्रशंसा ना केवल दुनियाभर के देश कर रहे हैं, बल्कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भी कर रहा है। कोरोना काल में देश के आमजन की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री ने 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज देकर हर वर्ग को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में ऐतिहासिक फैसला लिया है। 

अब तक मुश्किल काम, मोदी सरकार में हुए आसान

उन्होंने कहा कि राममन्दिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होने की बात हो या धारा 370 को निष्प्रभावी करने की अथवा मुस्लिम माताओं-बहिनों को तीन तलाक से मुक्ति दिलाने का ऐतिहासिक फैसला हो, दशकों से लटके हुए ये सभी काम मोदी की सरकार आने के बाद ही सम्भव हो सकें हैं। पीएम किसान सम्मान निधि, उज्जवला योजना, जन-धन खाता योजना ऐसी तमाम कल्याणकारी योजनाओं से देश के गरीब एवं किसानों के कल्याण का मार्ग प्रशस्त हुआ।

कांग्रेस छिपा रही अपनी नाकामियां


उन्होंने कहा कि कोविड पीडि़त नागरिकों के प्रति सहानुभूति, सहयोग का भरोसा, श्रद्धांजलि, संवेदना भाजपा का संस्कार रहा है। भैंरोसिंह शेखावत, पण्डित दीनदयाल उपाध्याय, सुन्दर सिंह भण्डारी आदि प्रमुख नेताओं ने लाखों पार्टी कार्यकर्ताओं तक जनसेवा का संस्कार पहुंचाया, जिसका नजारा हमें कोरोना काल में भी राजस्थान में राहत कार्यों से देखने को मिला। राजस्थान सरकार की उनकी अपनी अन्दरूनी लड़ाई है, भाजपा का नाम लेकर वे अपनी सरकारी की नाकामियों को छिपाने का काम कर रहे हैं। इस राजनीतिक तमाशे को प्रदेश की जनता देख रही है एवं समझ रही है। नरेन्द्र मोदी सरकार की योजनाओं का लाभ जनता को मिले इसके लिए प्रदेश भाजपा आमजन तक इन योजनाओं के बारे में अवगत करा रही है। 

जनता ने जताया मोदी में विश्वास

उन्होंने कहा कि लाकडॉउन में जनता आशंकित थी, पर प्रधानमंत्री के आह्वान को जनता ने माना एवं स्वीकार किया और यही बात मोदी के नेतृत्व में विश्वास को प्रमाणित करती है। पीएम का आह्वान है कि देशवासी सतर्क रहें और सुरक्षित रहें। उन्होंने कोरोना वॉरियर्स की चिंता की एवं लाकडॅाउन की शुरुआत में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज दिया, जिसमें 80 करोड़ परिवारों तक राशन पहुंचाया और भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए राहत कार्य देशभर में प्रशंसनीय हैं।

हर वर्ग को पहुंचाई राहत 


उन्होंने कहा कि जन-धन खातों से 20 करोड़ महिलाओं के खातों में पैसा पहुंचाया गया। देशभर में 8 करोड़ परिवारों को पिछले 3 महीने में मुफ्त गैस सिलेण्डर दिए गए। इसी योजना में राजस्थान के 66 लाख 77 हजार परिवारों को मुफ्त सिलेण्डर दिए गए, स्टेट डिजास्टर में राजस्थान 740 करोड़ रुपए दिए गए। जल-थल-नभ के माध्यम से मोदी सरकार लोगों को विदेशों से उनके घर लेकर आई। मोदी सरकार ने रेल माध्यम से 60 लाख लोगों को उनके घरों तक पहुंचाया।

राहुल गांधी पर निशाना

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के संस्कार ऐसे है कि कोरोना काल में जब डॉ. सतीश पूनियां वेबिनार करते हैं तो कार्यकर्ताओं से संवाद करते है और अमेठी के पूर्व सांसद जब वेबिनार करते है तो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत पर कटाक्ष करने वालों से संवाद करते हैं।


विश्व में भारत की प्रशंसा 


भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने वर्चुअल जनसंवाद रैली को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश के 135 करोड़ लोगों को कोरोना काल में जिस तरीके से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने मजबूत एवं कुशल नेतृत्व से सुरक्षित रखा, उसी की बदौलत भारत आज विश्व स्वास्थ्य संगठन का कार्यकारी अध्यक्ष बना और पूरी दुनियाभर में उनके नेतृत्व की प्रशंसा हो रही है। 
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज देकर देश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में ऐतिहासिक और क्रांतिकारी फैसला किया है। इस आर्थिक पैकेज से श्रमिक, किसान, सूक्ष्म एवं लघु उद्यमी, बड़ेे उद्यमी, रेहड़ी-ठेली वाले इत्यादि सभी को सम्बल मिलेगा और भारत आत्मनिर्भरता की दिशा में तेजी से आगे बढ़ेगा।


ये भी थे मौजूद


वर्चुअल जनसंवाद रैली को केन्द्रीय मंत्री, गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, उपनेता राजेन्द्र राठौड़ ने भी संबोधित किया। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय पर आयोजित हुई वर्चुअल जनसंवाद रैली में भाजपा के राष्ट्रीय सह-संगठन महामंत्री वी. सतीश, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, प्रदेश महामंत्री (संगठन) चन्द्रशेखर, केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष डॉ. अरूण चतुर्वेदी, अशोक परनामी, जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा, पूर्व मंत्री एवं विधायक कालीचरण सराफ, प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, प्रदेश मंत्री मुकेश दाधीच, जयपुर शहर अध्यक्ष सुनिल कोठारी, विधायक अशोक लाहोटी सहित पार्टी के पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं कार्यकर्ता मौजूद रहें तथा केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़े।

10 लाख लोगों ने सुनी रैली, सांगानेर में भी उत्साह


भारतीय जनता पार्टी आई.टी. सेल प्रमुख हिरेन्द्र कौशिक ने बताया कि इस वर्चुअल रैली में करीब 10 लाख जुड़े। इसमें बहुत से सांसदों, विधायकों, पदाधिकारियों के फेसबुक पेजों से भी जुड़कर लोगों ने वर्चुअल जनसंवाद रैली को सुना। इधर, सांगानेर में भी विधायक अशोक लाहोटी, सांगानेर मण्डल अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने वर्चुअल रैली को सुना। इस रैली को सुनने को भाजपा कार्यकर्ता उत्साहित दिखे। सभी ने ईरानी के वक्तव्य की सराहना की और मोदी सरकार के एक साल के कार्यकाल को घर-घर तक पहुंचाने का संकल्प दोहराया।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार