जयपुर की बहू ने भोपाल एम्स डॉक्टर्स को भेजी पीपीई किट

जस्ट टुडे
जयपुर। देश में कोरोना के बरपते क़हर में हर व्यक्ति को अपना गांव और घर  याद आ रहा है और वह जल्दी से जल्दी अपने घर पहुंचकर सुकून हासिल करना चाहता है। जो लोग ख़ुद अपने घर नहीं पहुंच रहे हैं वे ऐसे कष्ट में अपने गांव और शहर के लिए दुआओं के साथ कुछ संसाधन जुटाकर और  भेजकर आत्म संतोष प्राप्त कर रहे हैं। ऐसा ही समाजसेवा का उदाहरण पेश कर यही हैं अजमेर रोड के निकट स्थित डीसीएम, महात्मागांधी नगर की बहू दर्शना गोस्वामी


दर्शना ने इस समय को एक चुनौती के रूप में समझा। दर्शना यहां महिला सशक्तिकरण प्रतिष्ठान लाड़ली संचालित करती हैं और उनके पति  चारु गोस्वामी वंचित बच्चों की संस्था आई इंडिया के निदेशक हैं। दोनों ने महिला समूह और यूथ ग्रूप के साथ मिलकर जयपुर के वरिष्ठ चिकित्सकों  के साथ मिलकर पीपीई  किट्स तैयार किए हैं, जिन्हें जयपुर के सभी बड़े सरकारी हॉस्पिटल्स, कोरोना डेडिकेटेड सेंटर्स के डाक्टर्स और अन्य कोरोना योद्धाओं  को सम्मान स्वरूप भेंट किए गए हैं।

भोपाल प्रशासन और आम नागरिकों ने सराहा 


ऐसे में दर्शना को अपने पीहर भोपाल की भी याद आई। उन्होंने अपने शहर भोपाल के डॉक्टर्स की चिंता करते हुए तुरंत भोपाल AIIMS से सम्पर्क साधा और उन्हें 100 पीपीई किट्स की पहली खेप भेंट स्वरूप भेजी। यह भेंट बुधवार को डॉक्टर नीरेंद्र राय , विभागाध्यक्ष नूरॉलोजी एम्स भोपाल और उनकी टीम को भोपाल में प्रदान की गई। पीपीई किट्स दर्शना के पिता राकेश तैलंग और मौसाजी सुनील तैलंग के अनौपचारिक कार्यक्रम में प्रदान किए।  दर्शना के इस जज़्बे को AIIMS भोपाल प्रशासन और आम नागरिकों ने सराहा है।

700 किट्स कर चुकी भेंट


दर्शना भोपाल के पास हिरदाराम नगर (बैरागढ) के साधु वासवानी कालेज से बीएससी कम्प्यूटर साइंस में स्नातक हैं I भोपाल के एक्सीलेंस कालेज से उन्होंने एमएससी गणित की डिग्री हासिल की है। दर्शना अब अपने जन्म स्थान टीकमगढ़ में भी कोरोना योद्धाओं के सम्मान स्वरूप भेंट हेतु पीपीई किट्स तैयार कर रही हैं। संस्था आई इंडिया और लाड़ली जयपुर अब तक 700 किट्स निशुल्क भेंट कर चुकी है।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार