अब स्वास्थ्य वॉरियर्स घर-घर जाकर करेंगे जागरूक

- कोरोना के प्रति जागरूकता के लिए 21 से 30 जून तक प्रदेशव्यापी चलेगा विशेष अभियान: चिकित्सा मंत्री 


विज्ञापन 700 रुपए में 100 मास्क: 94142 09878

जस्ट टुडे
जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना के प्रति आमजन में जागरूकता के लिए 21 से 30 जून तक चलने वाले  प्रदेशव्यापी विशेष अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर जाकर एक्टिव सर्विलांस करेंगी और लोगों को कोरोना की रोकथाम और नियंत्रण के लिए बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में भी जागरूक करेंगी।  


पड़ोसी राज्यों की मदद करेगा राजस्थान



चिकित्सा मंत्री ने बताया कि पड़ोसी राज्य हरियाणा, पंजाब, दिल्ली जहां कोरोना का प्रसार ज्यादा है और जांचों की संख्या कम है। इन राज्यों के लिए 5 हजार जांचें प्रतिदिन राजस्थान में करने का फैसला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की संवेदनशीलता दर्शाता है। उन्होंने कहा कि 2 मार्च तक प्रदेश में कोरोना जांच की सुविधा तक नहीं थी लेकिन मुख्यमंत्री के नेतृत्व में विभाग ने 25 हजार 250 जांच प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली है और आने वाले दिनों में यह लक्ष्य 40 हजार तक पहुंच जाएगा।

पॉजिटिव भी ज्यादा तो निगेटिव भी ज्यादा


विज्ञापन

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्रतिदिन 13-14 हजार जांचें प्रतिदिन हो रही हैं। प्रदेश के 17 जिलों में जांच सुविधा विकसित कर ली गई है। जल्द ही प्रदेश के सभी जिलों में भी कोरोना संबंधी जांच होने लगेगी। उन्होंने कहा कि हालांकि प्रदेश में भी पॉजिटिव केसेज की संख्या में प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है लेकिन प्रदेश में पॉजिटिव से निगेटिव होने की तादात भी 75 फीसदी से ज्यादा है। कोरोना रिकवरी में राजस्थान देश भर में नंबर-1 पायदान पर है। प्रदेश में कोरोना से पीडि़त 28 दिनों में दोगुने हो रहे हैं। यही नहीं प्रदेश में कोरोना की मृत्यु दर भी 2.28 प्रतिशत ही है। 

आमजन ना करे हिदायतों की अनदेखी

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कुछ लोग लापरवाही कर सरकार की ओर से आमजन को मास्क लगाने, भीड़ में ना जाने, बार-बार साबुन से हाथ धोने, दो गज की दूरी रखने की अपील की अनदेखी की जा रही है। ऐसी लापरवाही स्वयं और राज्य के लिए खतरा बन सकती है। कोरोना से जड़ी सावधानी रखना आमजन के लिए जरूरी है। एक व्यक्ति कई लोगों को संक्रमित कर सकता है। उन्होंने 'सावधानी हटी-दुर्घटना घटी' की सोच को जीवनशैली में उतारने का आह्वान किया।

विधायक कोष से करेंगे चिकित्सा ढांचे को मजबूत


विज्ञापन

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के पीरियड का राजस्थान ने सदुपयोग किया यही वजह रही है कि राज्य किसी भी आपातकाल का सामना करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के माइक्रो लेवल मॉनिटरिंग और प्लानिंग का ही नतीजा रहा कि प्रदेश में कोरोना नियंत्रण में है। उन्होंने बताया कि आने वाले दो सालों में विधायक कोष के फंड से स्थानीय चिकित्सा संस्थानों को समृद्ध करने का मुख्यंमत्री का फैसला भी प्रदेश के चिकित्सा व्यवस्था को मजबूती देने का काम करेगा। 

4000 लोग ही इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार ने संस्थागत या होम क्वारेंटाइन से लेकर आइसोलेशन वार्ड, डेडिकेटेड अस्पताल, कोविड केयर सेंटर सहित हर पहलू पर काम कर कोरोना से बचाया है। उन्होंने कहा कि एक समय प्रदेश में 7.25 लाख लोग होम क्वारेंटाइन और 34 हजार लोग इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन में थे, वहीं अब केवल 1.25 लाख लोग होम क्वारेंटाइन में और करीब 4 हजार लोग इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन में हैं।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार