अब मौके पर ही चलेगा पता, कितनी मिलावट

- चिकित्सा मंत्री ने 4 मोबाइल फूड सेफ्टी वैन को दिखाई हरी झण्डी



विज्ञापन 

जस्ट टुडे 

जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बुधवार को स्वास्थ्य भवन से 4 मोबाइल फूड सेफ्टी लैब वैन को हरी झंड़ी दिखाकर रवाना किया। ये वैन जोधपुर, भरतपुर, बीकानेर और उदयपुर संभाग में भेजी गई हैं।



डॉ. शर्मा ने बताया कि प्रदेश में खाद्य पदार्थों में मिलावट को रोकने और आमजन को शुद्ध उत्पाद उपलब्ध कराने के लिए सभी संभागों के लिए लैब युक्त वैन संचालित करने की योजना बनाई है। जयपुर में पहले से ही फूड सेफ्टी मोबाइल वैन का संचालन हो रहा था अब जोधपुर, भरतपुर, बीकानेर और उदयपुर संभागों में भी लैब का संचालन हो सकेगा। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही अजमेर और कोटा संभाग के लिए भी इस तरह वैन उपलब्ध कराई जाएगी। 


कोई भी करा सकता है जांच 


जन स्वास्थ्य निदेशक डॉ. के.के. शर्मा ने बताया कि इन मोबाइल वैनों में 36 तरह की अलग-अलग तरह की जांचें करवाई जा सकती है। उन्होंने बताया कि कोई भी उपभोक्ता, उत्पादक किसी भी तरह की मिलावट होने पर क्षेत्र के सीएमएचओ के जरिए न्यूनतम शुल्क पर जांच करवा सकता है। इन पदार्थों की जांच रिपोर्ट ऑन स्पाट 25 से 30 मिनट में उपलब्ध हो सकेगी। उन्होंने बताया कि जांचें सर्विलांस के अधीन होती हैंं और उनके अनसेफ, मिसब्रांड और सब स्टैंडर्ड होने पर एक्ट के अनुसार कार्यवाही की जा सकती है।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार