स्कूल-कॉलेजों में मास्क होगा जरूरी ताकि पढ़ाई हो सके पूरी 

स्कूल-कॉलेजों में पढ़ाई शुरू हो सके...इसलिए सरकार सोशल डिस्टेंसिंग की बना रही नई गाइडलाइन

जस्ट टुडे
नई दिल्ली। केन्द्र सरकार स्कूल और कॉलेजों में पढ़ाई शुरू हो सके, इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग की नई गाइडलाइन तैयार कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) की ओर से बनाई जा रही इस गाइडलाइन में इस बात का खयाल रखा जा रहा है कि जब पढ़ाई शुरू हो तो संक्रमण फैलने का खतरा नहीं रहे। इसके लिए क्लासरूम में बैठने से लेकर मेस, लाइब्रेरी, हॉस्टल और कैन्टीन तक के लिए नियमों में बदलाव करने का विचार है। स्कूल यूनिफॉर्म के साथ मास्क भी अनिवार्य किया जा सकता है।



फोटो प्रतीकात्मक

स्कूलों में मॉर्निंग असेंबली और स्पोट्र्स एक्टिविटी बंद की जा सकती है। स्कूल बस, वॉशरूम और कैफेटेरिया के लिए भी नियम बन सकते हैं। समय-समय पर पूरी इमारत को सैनिटाइज करने के निर्देश दिए जा सकते हैं। बोर्डिंग स्कूलों के मेस और हॉस्टल में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम लागू होंगे।


राज्यों से साझा करेंगे गाइडलाइन

नई गाइडलाइन में छात्रों और स्टाफ की सुरक्षा के लिए जरूरी सुझाव शामिल होंगे। इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि किसी इलाके में कोरोना के हालात क्या हैं? गाइडलाइन तैयार होने के बाद राज्यों से साझा की जाएंगी ताकि, वे स्कूल-कॉलेज खुलने से पहले तैयारी कर सकें। गाइडलाइन फॉलो करवाने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन को दी जाएगी। सोशल डिस्टेंसिंग रखने के लिए कैंपस के कुछ इलाकों की मरम्मत भी करवाई जाएगी। देश के कई आईआईटी संस्थान कैम्पस में विजिटर्स की एंट्री बंद करने, शिफ्टों में क्लास लगाने और लैब का टाइम अलग-अलग करने की योजना पर भी विचार कर रहे हैं।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार