सेंट शीतल के टीचर्स ने पढ़ाया ऑनलाइन पाठ...बच्चों के हुए ठाठ

प्रताप नगर स्थित सेंट शीतल एकेडमी में लॉकडाउन में भी अनलॉक रही पढ़ाई


एकेडमी डायरेक्टर धरमजीत ने बच्चों और शिक्षकों का जताया आभार



जस्ट टुडे
जयपुर। कोरोना महामारी में लोगों की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए सरकार की ओर से लॉकडाउन लगाया गया। इस समय भी लॉकडाउन 4.0 चल रहा है। शुरुआत में जब सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की थी, उस समय शिक्षण संस्थाएं भी बंद हो गईं थीं। ऐसे में लगा कि पढ़ाई बाधित होने से बच्चों का भविष्य कहीं अंधकारमय ना हो जाए। ऐसे में शहर के तमाम नामचीन स्कूलों ने ऑनलाइन क्लास केे जरिए लॉकडाउन में बच्चों को पढ़ाई कराई थी। ऐसे ही स्कूलों में प्रताप नगर स्थित सेंट शीतल एकेडमी भी है। इस स्कूल ने लॉकडाउन में भी ऑनलाइन क्लास के जरिए बच्चों की पढ़ाई जारी रखी थी।


सभी ने दिखाया गजब का उत्साह




एकेडमी के डायरेक्टर धरमजीत सिंह ने बताया कि  कक्षा 1 से 12 वीं तक के बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई कराई गई। ऑनलाइन क्लास में 4 विषय अनिवार्य और दो विषय वैकल्पिक थे। क्लास में बच्चों को इंग्लिश, मैथ्स और साइंस के वीडियो-ऑडियो टीचर्स की ओर से बच्चों को भेजे जाते थे। ऑनलाइन क्लास में शिक्षकों और बच्चों का जोश-जज्बा गजब का था। सभी ने पढ़ाई के इस नए स्वरूप को बहुत पसंद किया। अभिभावकों ने भी बच्चों का भरपूर साथ दिया। वे इस दौरान बच्चों के साथ रहते थे। हमने बच्चों को होम वर्क भी दिया, जिसे बच्चों ने पूरी लगनता के साथ किया।


परेशानियां हो गईं हवा



धरमजीत सिंह ने उन सभी बच्चों, अभिभावकों और शिक्षकों का आभार व्यक्त किया है, जिन्होंने इस ऑनलाइन क्लास में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। उन्होंने बताया कि इस दौरान इंटरनेट स्पीड सहित कई प्रॉब्लम्स आईं, लेकिन, समय के साथ सभी का हल निकाला गया और पढ़ाई को सुचारू रखा गया। 



'स्पेशल बच्चों' को किया पुरस्कृत


इसके बाद हमने एक टीम बनाई, इस टीम ने उन बच्चों की पहचान की, जिन्होंने ऑनलाइन क्लास में पूरी दिलचस्पी दिखाई और जो होम वर्क दिया गया, उसे तय समय पर करके दिया। तय समय पर कार्य करने वालों को हमने 'स्पेशल बच्चा' कैटेगिरी में रखा है। इन सभी बच्चों को एकेडमी की ओर से पुरस्कृत किया गया। साथ ही ऑनलाइन क्लास के जरिए बच्चों को पढ़ाई कराने वाले शिक्षकों का भी सम्मान किया गया। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार