सांगानेर में टिटहरी ने किया इशारा...प्रदेश में बारिश का ऐसा होगा नजारा

- टिटहरी के अण्डे सदियों से किसानों को दे रहे मानसून का पूर्वानुमान

- सांगानेर में टिटहरी ने दिए तीन अण्डे...प्रदेश में झमाझम के संकेत



विज्ञापन

गुलाब चंद कुमावत @ जस्ट टुडे
जयपुर। भीषण गर्मी से जूझ रहे किसान और जनता मानसून का इंतजार कर रहे हैं। ऐसे में टिटहरी के अण्डे प्रदेश के लिए शुभ संकेत लेकर आए हैं। सांगानेर में टिटहरी ने तीन अण्डे दिए हैं। प्रचलित मान्यताओं के मुताबिक यह अच्छी बारिश का संकेत है। माना जाता है कि पशु-पक्षी प्रकृति में परिवर्तन के प्रति संवेदनशील होते हैं। उनका आचरण-व्यवहार भी प्रकृति के अनुरूप ही होता है। टिटहरी के अण्डों से बारिश के पूर्वानुमान का आधार भी यही है। हालांकि, मौसम विभाग ऐसे अनुमान को नहीं मानता है। मौसम विभाग तकनीकी आधार पर आए पूर्वानुमान को ही सटीक मानता है। जस्ट टुडे की इस स्पेशल रिपोर्ट में पढ़ें टिटहरी के अण्डों से किस तरह मिलता है बारिश का संकेत? प्रचलित मान्यता पर क्यों है इतना भरोसा?
 
सदियों से प्रकृति दे रही संदेश 


जब तकनीक नहीं थी, तब से ही किसान प्रकृति के नियमों को संदेश मानकर बारिश का अनुमान लगाते रहे हैं। ऐसे अनुमानों में टिटहरी के अण्डों की संख्या के आधार पर बारिश का पूर्वानुमान भी लगाया जाता है। इसमें अण्डों की संख्या के साथ ही स्थान का भी महत्व दिया गया है। वर्तमान में भी ग्रामीण क्षेत्रों में कई जगह अच्छी बारिश के लिए टोटके किए जाते हैं।
 
अण्डों की जगह रखती है विशेष महत्व


विज्ञापन

प्रचलित मान्यताओं के मुताबिक यदि टिटहरी ऊंचाई पर अण्डे देती है तो उस साल अधिक बारिश, समतल जमीन पर अण्डे देना औसत बारिश और किसी गड्ढ़े में अण्डे देेने पर सूखा पडऩे का पूर्वानुमान लगाया जाता रहा है। इसके अलावा अण्डों का मुंह किसी ओर है, यह भी बहुत मायने रखता है। अण्डों का मुंह जमीन की ओर होने पर मूसलाधार बारिश, समतल स्थान पर होने से औसत बारिश और गड्ढ़े में अण्डे देना सूखे का संकेत देते हैं। 

जितने अण्डे उतनी माह बारिश


विज्ञापन

मान्यतानुसार टिटहरी जितने अण्डे देती है, उतने माह बारिश होती है। हालांकि, इसमें अण्डों की संख्या कम से दो होना आवश्यक है। यदि टिटहरी तीन अण्डे दे तो तीन माह, चार अण्डे दे तो चार माह बारिश का अनुमान लगाया जाता है।

सांगानेर में यहां दिए टिटहरी ने अण्डे


सांगानेर स्थित श्योपुर में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय की छत पर टिटहरी ने तीन अण्डे दिए हैं। स्थानीय निवासी जगदीश नारायण पटेल ने भी इस सम्बंध में पुरानी मान्यता का हवाला देते हुए इसे अच्छी बारिश का संकेत बताया। 


तीन माह तक प्रदेश में होगी झमाझम

सांगानेर के श्योपुर में टिटहरी ने स्कूल की छत यानी ऊंचाई पर तीन अण्डे दिए हैं। ऐसे में मान्यतानुसार प्रदेश में तीन माह तक अच्छी बारिश के संकेत मिलते हैं। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार