कोरोना में भोजन बना परमो धर्म:

प्रताप नगर स्थित श्री श्वेताम्बर स्थानकवासी जैन संस्था की ओर से जरूरतमंदों को रोज कराया जा रहा है भोजन

जस्ट टुडे
प्रतापनगर। कोरोना संकट में जयपुर के विभिन्न हिस्सों में समाज-सेवी और आर्थिक सम्पन्न लोग लॉकडाउन के दिन से ही जरूरतमंदों की बढ़-चढ़कर मदद कर रहे हैं। कोई जरूरतमंदों को राशन किट दे रहा है तो कोई भरपेट खाना खिला रहा है। साथ ही कई लोग मास्क और सेनेटाइजर भी वितरित कर रहे हैं। सांगा बाबा की नगरी के नाम से विख्यात सांगानेर में भी कई समाज-सेवी अपने-अपने तरीके से जरूरतमंदों की निस्वार्थ भाव से सेवा कर रहे हैं।



कुंदन नगर आंगनबाड़ी में जरूरतमंदों को भोजन वितरित करते महेन्द्र आंचलिया।


कई धार्मिक संगठन भी इस कार्य में अपना पूर्ण सहयोग दे रहे हैं। ऐसा ही नेक कार्य कर रही है प्रताप नगर स्थित श्री श्वेताम्बर स्थानकवासी जैन संस्था। संस्था की ओर से जरूरतमंदों को सुबह-शाम भरपेट खाना खिलाया जा रहा है। श्री श्वेताम्बर स्थानकवासी जैन संस्था, प्रतापनगर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष महेन्द्र आंचलिया, युवा संघ के अध्यक्ष कर्तव्य चपलोत और संघ पदाधिकारी वीरेन्द्र जैन की देखरेख में जरूरतमंदों को भोजन वितरित किया जा रहा है।


340 भोजन के पैकेट रोज हो रहे वितरित


संस्था के वरिष्ठ उपाध्यक्ष महेन्द्र आंचलिया ने बताया कि संस्था की ओर से 15 अप्रेल से प्रतिदिन करीब 340 भोजन के पैकेट जरूरतमंदों को वितरित किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि वाटिका सहभागिता योजना में रोजाना करीब 100 भोजन के पैकेट जा रहे हैं। इसके अलावा कुन्दन नगर, कुन्दननगर आंगनबाड़ी, कोलियों का मोहल्ला और मालपुरा गेट क्षेत्र में जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट वितरित किए जा रहे हैं। 


आचार्य हस्ती भवन से आ रहा भोजन


महेन्द्र आंचलिया ने बताया कि जेएलएनमार्ग स्थित आचार्य हस्ती भवन की रतन रसोई से रोजाना भोजन के पैकेट जरूरतमंदों को आ रहे हैं। इसमें पांच रोटी और दाल या सब्जी होती है। आचार्य हस्ती भवन के भोजन की गुणवत्ता तो जयपुर सहित कई राज्यों तक मशहूर है। आम दिनों में कैंसर हॉस्पिटल सहित कई हॉस्पिटल्स में आने वाले मरीजों के परिजन आचार्य हस्ती भवन में ही भोजन करते हैं। यहां पर भोजन बनाते समय साफ-सफाई और गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाता है। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार