एक्सक्लूसिव: बिना लक्षण...कोरोना की सीताबाड़ी में फिर दस्तक

- सीताबाड़ी क्षेत्र के केशव विहार में सोमवार को एक महिला में कोरोना की पुष्टि
- सीताबाड़ी क्षेत्र के खोखावास स्थित कल्याण नगर थर्ड में भी आ चुकी है एक महिला कोरोना पॉजिटिव
- सांगानेर क्षेत्र में अब तक कोरोना के मिल चुके हैं 14 पॉजिटिव मामले


जस्ट टुडे सबसे पहले


जस्ट टुडे
जयपुर। सांगानेर क्षेत्र के सीताबाड़ी में सोमवार को एक और महिला के कोराना संक्रमण की पुष्टि हुई है। ऐसे में अब सीताबाड़ी क्षेत्र में एक दिन के बाद ही एक और कोरोना का मामला आने के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। ऐसे में अब सीताबाड़ी में कोरोना पॉजिटिव की संख्या दो हो गई है। चिकित्सा विभाग ने भी अपने कोरोना वॉरियर्स क्षेत्र में लगा दिए हैं। ये कोरोना वॉरियर्स क्षेत्र में सर्वे कर कोरोना संक्रमण के प्रभावित क्षेत्रों और लोगों का पता लगाने में जुटे हुए हैं। ज्ञात हो कि इससे पहले सांगानेर के कागजी मोहल्ले में भी करीब 12 लोग कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। ऐसे में सांगानेर क्षेत्र में अब तक कोरोना के 14 केस पॉजिटिव आ चुके हैं।


ट्रोमा सेंटर में काम करती है महिला



ब्लॉक सीएमओ, सांगानेर धनेश्वर शर्मा ने बताया कि सोमवार को सीताबाड़ी स्थित केशव विहार की रहने वाली महिला के कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। यह महिला ट्रोमा सेंटर में काम करती है। हालांकि, इस महिला के जुकाम, खांसी जैसे कोरोना के लक्षण नहीं है। फिर भी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद एहतियातन इस महिला को ईएसआई में क्वारेंटाइन किया गया है। सांगानेर में कोरोना संक्रमण का यह पहला ऐसा मामला है, जिसमें कोरोना के लक्षण नहीं थे। ज्ञात हो कि शनिवार को सीताबाड़ी क्षेत्र के खोखावास गांव स्थित कल्याण नगर थर्ड में भी एक महिला कोरोना पॉजिटिव आ चुकी है। यानी सीताबाड़ी क्षेत्र में दोनों पॉजिटिव मामले महिलाओं के ही आए हैं। उन्होंने बताया कि कल्याण नगर थर्ड में कोरोना पॉजिटिव आई महिला के क्वारेंटाइन किए गए 38 परिजनों की कोरोना रिपोर्ट अभी नहीं आई है। 


जस्ट टुडे की अपील...घरों में ही रहें लोग

सांगानेर सहित क्षेत्र के सभी लोगों से जस्ट टुडे की अपील है कि वे घरों में ही रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन करें। क्योंकि, अभी तक कोरोना के ऐसे मामले आ रहे थे, जिनमें मरीजों में संक्रमण के लक्षण दिख रहे थे। लेकिन, सीताबाड़ी के केशव विहार में बिना लक्षण के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद स्थिति और भी गंभीर हो गई है। क्योंकि, जब बिना लक्षण के कोरोना हो जाएगा तो हम उसके प्रति सतर्क नहीं होंगे और जाने-अनजाने में अपने करीबियों को भी यह महामारी तोहफे में दे देंगे। ऐसे में अपनी सुरक्षा अपने ही हाथ में है। यदि किसी आवश्यक कार्य से बाहर जाना भी हो तो मास्क लगाकर जाएं। घर आने पर सेनेटाइजर का प्रयोग करें या फिर हाथों को अच्छे से धोएं।

किसी मरीज को कहां किया जाता है क्वारेंटाइन

धनेश्वर शर्मा ने बताया कि जिन मरीजों को जुकाम, खांसी और सांस लेने की शिकायत जैसे कोरोना के लक्षण होते हैं और उनका टेस्ट भी पॉजिटिव निकलता है। ऐसे लोगों को चिकित्सा विभाग की ओर से सवाई मानसिंह अस्पताल, महात्मा गांधी अस्पताल और आयूएचएस अस्पताल में क्वारेंटाइन किया जाता है। वहीं कोरोना के बिना लक्षण वाले मरीजों को ईएसआई और जयपुरिया में क्वारेंटाइन किया जाता है।


7500 लोगों की स्क्रीनिंग...77 के लिए स्वाब नमूने


ब्लॉक सीएमओ, सांगानेर के मुताबिक खोखावास में सोमवार को 14 चिकित्सा टीमों ने करीब 1400 घरों का सर्वे किया। इस दौरान करीब 7500 लोगों की नब्ज टटोली। इसके साथ ही करीब 77 लोगों के गले के स्वाब के नमूने भी लिए गए। 



 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर में नया अध्यक्ष चुनने आज एक जाजम पर बैठेंगे व्यापारी