अब सांगानेर में गर्मी ने लगाया कर्फ्यू

जस्ट टुडे की स्पेशल कवरेज

- आसमान से बरस रही आग...बाजारों से लेकर सड़कों तक सन्नाटा


- सड़कें सूनी...पारा 44 डिग्री, दुकानदारों के माथे पर चिंता का पसीना 



सांगानेर मुख्य बाजार स्थित गांधी तिराहा से सांगा सर्किल जाने वाली सड़क पर पसरा हुआ सन्नाटा।


जस्ट टुडे
जयपुर। कोरोना संकट के कारण लगाए गए कर्फ्यू  के बाद अब गर्मी का कर्फ्यू लग गया है। प्रदेश में नौतपा की वजह से आसमान से आग बरस रही है। ऐसे में सरकार ने बाजारों को भले ही खोल दिया हो, लेकिन गर्मी से कारोबार ठप्प हो गया है। बाजारों से लेकर सड़कों तक सन्नाटा है। भीषण गर्मी से फिलहाल कोई राहत के संकेेत भी नहीं हैं। प्रशासन ने भी लोगों से सुबह 10 से शाम 5 बजे तक ना निकलने की सलाह दी है। जयपुर की हृदयस्थली सांगानेर बाजार में भी अब गर्मी ने कर्फ्यू  लगा दिया है। यहां पर मुख्य बाजार सहित सभी बाजारों की सड़कें सूनी पड़ी हुई हैं। दुकानदारों का लगा कि दो महीने बाद बाजारों में ग्राहकों की रौनक नजर आएगी, लेकिन गर्मी ने उनके अरमानों पर पानी फेर दिया। जस्ट टुडे ने कोरोना के बाद अब गर्मी के इस लॉकडाउन का लिया जायजा। 

ग्राहकों ने बनाई बाजार से दूरी

सांगानेर बाजार भी प्रशासन ने पूरा खोल दिया है, लेकिन, गर्मी के चलते ग्राहकों का टोटा बना हुआ है। दुकानदार ग्राहकों के लिए पलकें बिछाए रहता है, लेकिन गर्मी की वजह से उनकी यह मनोकामना पूरी नहीं हो पा रही है। सांगानेर बाजार स्थित दुकानदारों का कहना है कि ग्राहकी सिर्फ 10 फीसदी ही रह गई है। 

राशन, पंखे, कूलर की दुकान पर ही ग्राहक


सांगानेर मुख्य बाजार स्थित मुकेश किराना स्टोर से जरूरत का सामान लेते ग्राहक।

सांगानेर में ग्राहक आस-पास के ग्रामीण क्षेत्र से आता है। गर्मी की वजह से वह नहीं आ रहा है। शाम को जब गर्मी का प्रकोप कम होना शुरू होता है तो दुकान बंद करने का समय हो जाता है। ऐसे में सांगानेर बाजार से फिलहाल ग्राहकों ने दूरी ही बना रखी है। दुकानदारों ने बताया कि अभी ग्राहकी सिर्फ सुबह 10 बजे से 12 बजे तक ही हो रही है। इस समय भी ज्यादातर ग्राहक राशन सामग्री के लिए ही आ रहे हैं। कुछ ग्राहकों की भीड़ दिखती है तो वह कूलर, पंखे विक्रेता या रिपेयरिंग की दुकानों पर होती है।

इन पर ग्राहकों का टोटा

सांगानेर में ज्वैलरी, कपड़े, बर्तन, चूड़े, शृंगार, जूते-चप्पल, मिठाई सहित अन्य दुकानों पर तो ग्राहक दिख ही नहीं रहा है। कोई ग्राहक आता भी है तो सिर्फ कीमत पूछकर ही चलता बनता है। क्योंकि, लॉकडाउन की वजह से लोगों के पास जमा पूंजी खर्च हो गई। ऐसे में वह सिर्फ राशन जैसी जरूरतों की वस्तुओं पर ही खर्च कर रहा है। 

गर्मी में बीमारी से ऐसे बचें


सांगानेर सीएचसी प्रभारी डॉ. देश दीपक अरोड़ा ने नौतपा से बच्चों, बुजुर्गों और पहले से बीमार लोगों को बेहद सावधानी की जररूत है। गर्मी के कारण शरीर में ऐंठन, थकावट, उल्टी, दस्त, डिहाइड्रेशन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए खूब पानी पिएं। जूस, फू्रट्स और नारियल पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें। अधिक तैलीय और मसालेदार खाद्य सामग्री से दूरी बनाएं रखें। नींबू पानी, शिकंजी, लस्सी और छाछ का नियमित रूप से सेवन करें। यदि बाहर निकलना जरूरी हो तो भूखे पेट ना निकलें, सिर ढंककर जाएं और रंगीन चश्मा जरूर लगाएं।

जयपुर में दोपहर 1:30 बजे तापमान 44 डिग्री


सांगानेर मुख्य बाजार स्थित अनाज मंडी रोड ग्राहकों के बिना सूनी-सूनी।

जयपुर सहित राज्य के दर्जनभर जिलों का तापमान 45 डिग्री के आस-पास बना हुआ है। जयपुर में गुरुवार दोपहर करीब 1:30 बजे तापमान 44 डिग्री था। तेज गर्मी की वजह से सुबह 8 बजे से ही सूरज की किरणें आग बरसाना शुरू कर देेती हैं। लू के थपेड़ों से लोग परेशान हैं। मौसम विभाग ने नौतपा को लेकर अलर्ट जारी किया हुआ है। ऐसे में इस गर्मी से फिलहाल राहत के संकेत नहीं दिख रहे हैं। आगामी दिनों में तापमान और भी बढऩे की संभावना है।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर बाजार में पटाखे की चिंगारी कहर बनकर टूटी