अब प्रतापनगर के आरयूएचएस में होगा कोरोना मरीजों का इलाज

- सोमवार से एसएमएस अस्पताल हो जाएगा कोविड फ्री, सामान्य बीमारी से ग्रसित मरीजों को मिलेगा लाभ


विज्ञापन

जस्ट टुडे
जयपुर। अब एक जून से कोविड मरीजों का इलाज प्रताप नगर स्थित आरयूएचएस में किया जाएगा। राज्य का सबसे बड़ा सवाई मानसिंह अस्पताल सोमवार से नॉन कोविड हो जाएगा।



चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि शुरुआती दौर में कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए एसएमएस अस्पताल में कोविड संक्रमितों के लिए ओपीडी, आईपीडी व इमरजेंसी चिकित्सा सुविधाएं शुरू की गईं थी। अब एक जून से यहां दी जाने वाली सभी सेवाएं आरयूएचएस (राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय), प्रतापनगर में स्थानांतरित की जा रही हैं। विशेषज्ञ व समस्त स्टाफ वहां जाकर संक्रमितों को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करा सकेंगे।
 
चरक भवन वाला कोरोना ओपीडी फार्मेसी कॉलेज जाएगा

डॉ. शर्मा ने बताया कि चरक भवन में चलने वाले कोरोना ओपीडी को भी आगामी दिनों में फार्मेसी कॉलेज में स्थानांतरित किया जाएगा। तब तक यहां खांसी-जुकाम-बुखार से जुड़ेे मरीजों का उपचार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि फार्मेसी कॉलेज में स्थानांतरण के बाद यहां भी पूर्व की भांति चिकित्सा सुविधाएं जारी कर दी जाएंगी। 

जनाना अस्पताल में होगा सामान्य बीमारियों का इलाज

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि सांगानेरी गेट स्थित महिला चिकित्सालय में कोविड से जुड़े मरीजों और संक्रमितों का इलाज किया जा सकेगा। वहीं चांदपोल स्थित जनाना अस्पताल में सामान्य बीमारियों का उपचार उपलब्ध रहेगा।  गौरतलब है कि इससे पूर्व जयपुरिया अस्पताल को भी नॉन कोविड बनाया जा चुका है।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार