विश्व में छाया राजस्थानी नृत्य

घूमर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में 


जस्ट टुडे
नासिक। यहां के पंचवटी क्षेत्र में स्थित विशाल मैदान में राजस्थान के पारम्परिक प्रसिद्ध लोकनृत्य घूमर को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कर लिया गया है।  कार्यक्रम में करीब 5000 से अधिक सर्व समाज की 20 वर्ष से 60 वर्ष तक की महिलाओं ने सामूहिक रूप से 'ओ म्हारी घूमर छै नखराली ए मां... घूमर रमवा ने ज्यासां... सहित अनेक राजस्थानी पारम्परिक वेशभूषा में विभिन्न गीतों के मिश्रण पर समूहों में करीब 45 मिनट से अधिक समय तक नृत्य किया।


हैल्प इंडिया ऑनलाइन फाउंडेशन एवं रॉयल डेस्टिनेशन डेकोरेशन एंड इवेंट की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में सहयोगी के तौर पर ब्राह्मण समाज के वैश्विक संगठन विप्र फाउंडेशन व अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच रहे।


वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स के डॉ. राजीव श्रीवास्तव ने हैल्प इंडिया की टीम को घूमर के ऐतिहासिक आयोजन का प्रमाण- पत्र प्रदान किया।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार