सांगानेर के सात सपने जल्द हों अपने

कई वर्षों की आस अधूरी, नए साल में हो जाए पूरी

जस्ट टुडे
सांगानेर। समय बदला, परिवार बदला और इसी बदलाव के चक्र में गांव कब शहर में तब्दील हो गए, पता ही नहीं चला। इस बदलाव की प्रक्रिया में सांगानेर की आभा भी कहीं गुम हो गई है। कभी अपने महलों और उत्कृष्ट कारीगरी के लिए दुनियाभर में पहचान रखने वाला सांगानेर वर्तमान में बदहाली का शिकार है।
           सांगानेर के आर्थिक विकास की धुरी का केन्द्र मुख्य बाजार अतिक्रमण का शिकार है तो सांगा बाबा सर्किल को वर्षों से सौन्दर्यीकरण का इंतजार है। प्राचीन धरोहरें भी अपने रखवाले की राह तक रही हैं। वहीं कई कॉलोनियां मूलभूत सुविधाओं से मोहताज है। इस बदलते कलैण्डर के साथ ही सांगानेर को भी अपनी सात समस्याओं का समाधान चाहिए।
          जस्ट टुडे ने सांगानेर की करूण पुकार सुनी और उसके हृदय के दर्द को शब्दों में ढालकर जनता जनाद्र्वन, प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के सामने रखा है। जनप्रतिनिधियों और प्रशासन को जगाना अब जनता जनाद्र्वन का काम है।



इन समस्याओं का नए साल में हो समाधान

1. वाहन पार्किंग:
 मुख्य बाजार एवं सांगा बाबा सर्किल पर अस्त-व्यस्त वाहन पार्किंग से आमजन परेशान है। साप्ताहिक अवकाश या फिर त्योहारों के अवसर पर तो बाजार में घुसना एवरेस्ट पर चढऩे जैसा प्रतीत होता है। उचित पार्किंग की जगह नहीं होने से वाहनों को कहीं पर भी आड़ा-टेढ़ा करके रख दिया जाता है। इससे पैदलयात्री का भी बाजार में चलना दूभर हो जाता है। ऐसे में वाहन पार्किंग का उचित स्थान निर्धारित हो। 

2.  आदर्श बाजार विकसित हो


मालपुरा गेट से हलवाई बाजार तक बाजार में एकरूपता लाकर इसे आदर्श बाजार के रूप में विकसित किया जाए। जयपुर में ही बरकत नगर बाजार को आदर्श बाजार बनाया गया है।

3. सांगा बाबा सर्किल का हो सौन्दर्यीकरण
सीटीएस बस स्टैण्ड सर्किल पर बने कियोस्क हटाकर जनसुविधाएं विकसित हों। इस भूमि पर सुलभ कॉम्पलेक्स, जलमंदिर, बस स्टैण्ड तथा पहली मंजिल पर कम्युनिटी हॉल बने। इसमें धार्मिक और सामाजिक आयोजन हो सकें।

4. प्राचीन धरोहरों का हो संरक्षण
प्राचीन अवशेष रहे मालपुरा गेट, चाकसू गेट, जयपुर गेट, त्रिपोलिया गेट की मरम्मत और रंग-रोगन कराकर अतिक्रमण मुक्त कराएं। साथ ही जयपुर के गेटों जैसे इन्हें भी आकर्षक बनवाएं। इसके अतिरिक्त कभी सांगानेर का प्रवेश द्वार रहा दौसा दरवाजे को भी फिर से बनवाकर उसे फिर से जीवित किया जाए?

5. हटाई जाए सब्जी मंडी
राजकीय चिकित्सालय तथा पोस्ट ऑफिस तक जाने वाले मार्ग पर सब्जी मंडी लगी हुई है। इस परिसर को अतिक्रमण एवं प्रदूषण मुक्त कराया जाए। मरीजों को अपने वाहन पार्किंग करने की भी जगह नहीं मिलती हैं। वहीं सब्जी मंडी लगी होने से पोस्ट ऑफिस भी दिखाई नहीं देता है। 

6. सीवरेज लाइन
सांगानेर में सीवरेज लाइन बहुत पुरानी हो गई है तथा छोटे पाइप डले हुए हैं। इससे पाइप लाइन बंद हो जाती है। कई कॉलोनियों में सीवरेज लाइन आए दिन टूटती रहती हैं। इसका गंदा पानी पेयजल में मिल जाता है, इससे कई बार घरों में दूषित पानी भी आता है। इसलिए समस्त सांगानेर क्षेत्र में बड़े पाइप डलवाकर नई लाइन बिछवाई जाए।
 
7. अस्थाई अतिक्रमण
फुटपाथ के नीचे बैठकर सामान रखकर ठेले खड़े करके बीच सड़क आवागमन में बाधक बने लोगों पर तत्काल कार्यवाही हो। इसके साथ ही दुकान के आगे करीब 15-20 फीट आगे तक सामान रखकर सड़क पर अतिक्रमण करने और दुकान के सामने वाली जगह को फुटपाथियों को किराए पर देने वालों पर नियमानुसार कार्यवाही हो। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार