प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव 1535, जयपुर में सबसे ज्यादा मरीज और मौत

जयपुर में मिले 43 नए कोरोना पॉजिटिव, प्रदेश के अन्य जिलों में 14 मिले संक्रमित


जस्ट टुडे
जयपुर। प्रदेश में लगातार लॉकडाउन के बाद भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। सोमवार सुबह तक प्रदेश में 57 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। इसमें सर्वाधिक जयपुर में 43 पॉजिटिव मिले। वहीं जोधपुर में 4, कोटा में 3, झुंझुनंू और जोधपुर में 2-2 संक्रमित मिले। वहीं नागौर, बांसवाड़ा और अजमेर में एक-एक संक्रमित मिला। जिसके साथ राजस्थान में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1535 पहुंच गया।



लॉकडाउन में राहत के बाद भी जयपुर की सड़कें रहीं सूनी।

वहीं प्रदेश में दो लोगों की मौत भी हो गई। जिसमें पहले नागौर के रहने वाले 62 साल के बुजुर्ग बताए जा रहे हैं। जिन्हें 18 अप्रैल को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 19 अप्रैल की सुबह उनकी मौत हो गई। जिसकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई। वहीं दूसरी कोटा में 65 साल की मृत महिला कोरोना पॉजिटिव मिली। जो अनंतपुरा इलाके की रहने वाली है। जानकारी अनुसार महिला को 19 अप्रैल को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया था। जिनकी रिपोर्ट 20 अप्रैल को पॉजिटिव पाई गई। 


जयपुर में कोरोना पॉजिटिव 500 पार


राज्य के 33 जिलों में सबसे ज्यादा जयपुर में 580 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा जोधपुर में 280 (इसमें 46 ईरान से आए), भरतपुर में 102, कोटा में 102, टोंक में 95, बांसवाड़ा में 61, नागौर में 59, जैसलमेर में 46 (इसमें 14 ईरान से आए), झुंझुनूं में 39, बीकानेर में 37, भीलवाड़ा में 28 मरीज मिले हैं। उधर, झालावाड़ में 20, अजमेर में 24, चूरू में 14, दौसा में 13, अलवर में 7, डूंगरपुर और सवाईमाधोपुर में 5-5, उदयपुर में 4, करौली और हनुमानगढ़ में 3-3, प्रतापगढ़, सीकर और पाली में 2-2, जबकि बाड़मेर और धौलपुर में 1-1 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। 


प्रदेश में 24 मौत, जयपुर में सर्वाधिक


राजस्थान में कोरोना से अब तक 24 लोगों की मौत हुई। इसमें सबसे ज्यादा 13 मौतें जयपुर में हुई। वहीं, जोधपुर, भीलवाड़ा और कोटा में दो-दो की जान जा चुकी है। इसके अलावा नागौर, बीकानेर और टोंक में एक-एक की मौत हुई है। इनमें एक 13 साल की बच्ची है, बाकी सभी मृतकों की उम्र 47 साल से ज्यादा थी। 


 


 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार