प्रदेश में होगा ग्राम स्तरीय समितियों का गठन

समितियां गांव-गांव में बनाएगी विलेज वाटर एवं सेनिटेशन प्लान

प्रमुख शासन सचिव ने दी सपोर्ट गतिविधियों के प्रस्ताव को मंजूरी 

मई माह में जारी होगी निविदा


जस्ट टुडे

जयपुर। प्रदेश में जल जीवन मिशन के तहत ग्राम स्तरीय समितियों का गठन होगा, ये समितियां राज्य के गांवों में विलेज वाटर एवं सेनिटेशन प्लान तैयार करेगी। जलदाय विभाग के प्रमुख शासन सचिव राजेश यादव ने बुधवार को झालाना स्थित जल एवं स्वच्छता सहयोग संगठन के कार्यालय में जल जीवन मिशन की प्रगति की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक में सपोर्ट गतिविधियों के प्रस्ताव को मंजूरी दी, इसके लिए आगामी मई माह में निविदा जारी की जाएगी।

 


यादव ने बैठक के दौरान अधिकारियों द्वारा दिए गए प्रस्तुतीकरण को देखा और जल जीवन मिशन के अन्तर्गत ग्राम आधारित सहयोग गतिविधियों के संचालन के लिए स्वयंसेवी संस्थाओंध्कम्पनियों का चयन कर जन सहभागिता के आधार पर गांवों में प्रत्येक घर में नल से जल पहुंचाने के कार्यक्रम को समयबद्ध रूप से क्रियान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने इस योजना के संचालन के प्रस्ताव की अनुमति प्रदान करते हुए इसके कार्य की निविदा मई माह में जारी करने के निर्देश दिए।  

 

प्रमुख शासन सचिव ने बैठक में अधिकारियों के साथ वित्तीय वर्ष 2020-21 में जल जीवन मिशन के तहत संचालित की जाने वाली सपोर्ट गतिविधियों के प्लॉन पर विस्तार से चर्चा की गई। इसके तहत प्रत्येक गांव में एक ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति का गठन किया जाएगा। उक्त समिति गांव की पेयजल योजनाओं के निर्माण तथा संचालन का कार्य करेगी। प्रदेश में चालू वित्तीय वर्ष में ऎसी 5000 समितियों के गठन का लक्ष्य रखा गया है। 

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर बाजार में पटाखे की चिंगारी कहर बनकर टूटी