पीएम मोदी ही करेंगे 14 अप्रेल को लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की सभी मुख्यमंत्रियों से बात 
सभी 30 अप्रेल तक लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में 
मुख्यमंत्रियों ने कहा, राष्ट्रीय स्तर पर हो  लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला 

जस्ट टुडे
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से तीसरी बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की। कॉन्फ्रेंसिंग में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने पर चर्चा की गई। पंजाब, महाराष्ट्र और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की। वहीं राजस्थान ने सीएम अशोक गहलोत ने भी ऐसा ही करने के संकेत दिए।



पीएम मोदी ने कहा कि मैं 24 घंटे उपलब्ध हूं, कोई भी मुख्यमंत्री कभी भी मुझे सुझाव दे सकता है। उन्होंने मुख्यमंत्रियों को भरोसा दिलाया कि राज्यों के सुझावों पर गंभीरता से विचार किया जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लॉकडाउन के संबंध में फैसला राज्यों की परिस्थितियों को देखते हुए उन्हें विश्वास में लेकर सामूहिक तौर पर करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इस संबंध में केन्द्र सरकार द्वारा लिए गए फैसले को राज्य सरकार लागू करेगी। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि राज्यों के बजाय 14 अप्रेल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लॉकडाउन को 30 अप्रेल तक बढ़ाने की आधिकारिक घोषणा करेंगे। ऐसे में राजस्थान में भी फिलहाल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा नहीं करेंगे। 


ये मुख्यमंत्री हुए शामिल

कॉन्फ्रेंसिंग में अशोक गहलोत (राजस्थान), अमरिंदर सिंह (पंजाब), ममता बनर्जी (पश्चिम बंगाल), उद्धव ठाकरे (महाराष्ट्र), योगी आदित्यनाथ (उत्तर प्रदेश), मनोहर लाल खट्टर (हरियाणा), के चंद्रशेखर राव (तेलंगाना) और नीतीश कुमार (बिहार) समेत दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए। पंजाब, महाराष्ट्र और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की। 

लॉकडाउन का फैसला राष्ट्रीय स्तर पर हो

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तीन सुझाव दिए। उन्होंने कहा, लॉकडाउन जारी रखने का फैसला राष्ट्रीय स्तर पर लिया जाए। राज्य अगर अपने स्तर पर लॉकडाउन का फैसला लेंगे तो संक्रमण की रोकथाम असरदार नहीं होगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर किसी वजह से लॉकडाउन हटाया जाता है तो परिवहन सेवाएं बहाल न हों। वहीं, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उद्योगों और कृषि क्षेत्र को लॉकडाउन से छूट देने का सुझाव दिया। उन्होंने अपने राज्य के लिए अतिरिक्त जांच किट उपलब्ध करवाने की भी मांग की। अभी तक 9 राज्य केन्द्र से लॉकडाउन को 30 अप्रेल तक बढ़ाने की मांग कर चुके हैं।

लॉकडाउन में कुछ रियायत संभव

सरकार के सूत्रों के मुताबिक, कुछ बदलावों के साथ लॉकडाउन आगे बढऩे के आसार हैं। राज्यों में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर प्रतिबंध जारी रहेंगे। स्कूल-कॉलेज और धर्मस्थल भी बंद रहने की संभावना है। 
लॉकडाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को खासा नुकसान हो रहा है, ऐसे में कुछ सेक्टर्स को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की शर्त पर लॉकडाउन से छूट दी जा सकती है। वहीं, आरबीआई ने अपनी रिपोर्ट में कोरोना संकट के बीच अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार की संभावना जताई है। लॉकडाउन से सबसे ज्यादा असर एविएशन सेक्टर पर पड़ा है। ऐसे में सरकार एयरलाइंस कम्पनियों को उड़ानें शुरू करने की छूट दे सकती हैं, लेकिन उन्हें सभी क्लास में बीच की सीट खाली रहनी होगी।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार