कोरोना से पुरुषों को ज्यादा खतरा...शोध में साबित

जस्ट टुडे
बीजिंग। एक शोध में खुलासा हुआ है कि कोरोना से महिलाओं के मुकाबले पुरुषों की मौत अधिक होती है। हालांकि, महिला और पुरुष दोनों पर ही  वायरस से संक्रमित होने का खतरा समान रूप से है। फ्रंटियर्स इन पब्लिक हैल्थ में प्रकाशित एक नए अध्ययन में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिंग भेद का परीक्षण किया गया है। अध्ययन में बीजिंग तोंगरेन अस्पताल के जिन क्यई समेत वैज्ञानिकों ने कोरोना से मरने वाले लोगों की प्रवृत्ति का मूल्यांकन किया। इसमें पाया गया कि जनवरी में हमने देखा था कि कोरोना से मरने वालों में पुरुषों की संख्या महिलाओं की तुलना में ज्यादा थी। 

पुरुषों की मृत्युदर महिलाओं से ढाई गुना ज्यादा थी



डॉक्टरों की टीम ने यह देखने के लिए कई मरीजों के डेटासेट्स का विश्लेषण किया कि क्या पुरुष और महिला की ओर से कोरोना वायरस पर प्रतिक्रिया देने में कोई अंतर है? इसमें 43 मरीजों की जानकारियां थीं, जिनका डॉक्टरों ने खुद इलाज किया था। साथ में कोरोना वायरस के 1056 मरीजों की सार्वजनिक रूप से उपलब्ध जानकारियां भी थीं। वैज्ञानिकों ने अध्ययन में उल्लेख किया कि संक्रमित पुरुषों और महिलाओं की उम्र और संख्या समान थी, लेकिन पुरुषों को अधिक गंभीर बीमारी हुई। वैज्ञानिकों ने यह भी पाया कि मरने वाले 70 प्रतिशत से अधिक मरीज पुरुष थे, जिसका मतलब है कि पुरुषों में महिलाओं की तुलना में मृत्यु दर लगभग 2.5 गुना हो सकती है। उन्होंने कहा कि पुरुष की भले ही उम्र कोई भी हो लेकिन पुरुष होने की वजह से उसे वायरस के कारण गंभीर बीमारी होने का खतरा अधिक है।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार