जस्ट टुडे की खबर के बाद सांगानेर से हटी कोरोना एम्बुलेंस 

खबर का असर: जस्ट टुडे की खबर के बाद हरकत में आया प्रशासन...हटाई कोरोना एम्बुलेंस, स्थानीय निवासियों ने ली राहत की सांस...जस्ट टुडे को दिया धन्यवाद



जस्ट टुडे
सांगानेर। जस्ट टुडे की ओर से शुक्रवार को 'कोरोना एम्बुलेंस से सांगानेर खौफजदा' नामक शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया गया था। इसमें बताया गया था कि इस एम्बुलेंस का ड्राइवर कोरोना पॉजिटिव मिला था। इसके बाद ड्राइवर को तो प्रशासन ने बुला लिया था, लेकिन, एम्बुलेंस को सांगानेर मुख्य बाजार में ही छोड़ गए थे। पिछले चार दिन से यह एम्बुलेंस वहीं खड़ी थी। इस एम्बुलेंस के सांगानेर मुख्य बाजार में खड़ी होने से स्थानीय निवासियों में खौफ का माहौल था। 


जस्ट टुडे बना जनता की आवाज


स्थानीय निवासियों ने अपनी पीड़ा और खतरे को जस्ट टुडे को बताया। जस्ट टुडे ने जनहित में समाचार प्रकाशित कर प्रशासन का ध्यान इस ओर इंगित किया। इसके बाद प्रशासन हरकत में आया और शनिवार दोपहर करीब 12:15 बजे प्रशासन की ओर से ड्राइवर भेजकर एम्बुलेंस को बुलवा लिया गया।


बच्चानी ने दिया जस्ट टुडे को धन्यवाद



कोरोना एम्बुलेंस के सांगानेर मुख्य बाजार से हटते ही स्थानीय निवासियों ने चैन की सांस ली। उन्होंने इसके लिए जस्ट टुडे को धन्यवाद दिया। सांगानेर व्यापार महासंघ के मीडिया प्रभारी पुरुषोत्तम बच्चानी ने कहा कि मुख्य बाजार से कोरोना एम्बुलेंस को हटा लिया गया है। इसके लिए बच्चानी ने जस्ट टुडे को धन्यवाद दिया है। जस्ट टुडे हमेशा से ही जनता की आवाज बना है। उसने जनता के मन की हर पीड़ा को शब्दों में ढालकर प्रशासन तक पहुंचाने में सेतु का कार्य किया है। 


यह था मामला, इसलिए लोग थे चिन्तित

दरअसल, यह एम्बुलेंस सीएमएचओ जयपुर के यहां लगी हुई थी। अभी तक इस एम्बुलेंस का ड्राइवर कोरोना वायरस जांच किट लेकर सभी सीएचसी और पीएससी सेन्टर्स पर जाता था। इसी दौरान यह ड्राइवर रामगंज में भी एम्बुलेंस को लेकर गया था। उस दौरान उसका सैम्पल टेस्ट करने के लिए भेजा गया था। उसकी मंगलवार (14 अप्रेल) को रिपोर्ट आई, जिसमें वह पॉजिटिव निकला। रिपोर्ट आने से पहले यह ड्राइवर मंगलवार (14 अप्रेल) को सांगानेर स्थित सीएचसी में भी जांच किट लेकर आया था। इसके साथ सांगानेर का ही एक मेडिकल स्टाफ भी था। यह ड्राइवर सांगानेर सीएचसी पर करीब दो घंटे रुका। इसी दौरान उस ड्राइवर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने की सूचना मिली और उसे तुरन्त बुला लिया गया। इसके बाद सांगानेर मुख्य बाजार और सीएचसी क्षेत्र को सील कर दिया गया। एम्बुलेंस को सेनेटाइज किया गया। लेकिन, एम्बुलेंस को लेने कोई नहीं आया, वह तभी से सांगानेर मुख्य बाजार में खड़ी हुई है। 


 


 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार